Connect with us

Politics

सुरजेवाला – रानी नागर को प्रताड़ित करने और सरकारी आवास मुहैया ना करवाने के लिए मुख्यमंत्री जवाब दें

Published

on

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने हरियाणा की महिला आईएएस ऑफिसर रानी नागर को प्रताडि़त करने और 3 महीने से सरकारी आवास मुहैया ना करवाने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल खट्टर से सीधा जवाब मांगा है।

राकेश टिकैत का सरकार पर जुबानी वार, चिंता न करो सारी किले निकाल कर घर जाएंगे

हरियाणा में गुर्जर समाज की इकलौती आईएएस अधिकारी की प्रताडऩा के लिए भाजपा सरकार को सीधे जिम्मेदार ठहराते हुए सुरजेवाला ने कहा कि सरकार के लिए शर्म की बात होनी चाहिए कि एक प्रतिभावान आईएएस अधिकारी को सरकारी आवास न उपलब्ध कराने पर गुर्जर भवन में रहने को मजबूर हैं, सरकार का यह रवैया पिछड़ा वर्ग और महिलाओं के साथ संवेदनहीनता दर्शाता है।

अजीब बात है कि सत्ता से चिपके बैठे गुर्जर समाज व मंत्रियों ने भी इस बेटी के प्रति कोई संवेदनशीलता नहीं दिखाई दे रही, ऐसे विधायकों व मंत्रियों को सरकार में रहने का कोई नैतिक हक़ नहीं है और उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा काडर आईएएस अधिकारी रानी नागर को प्रदेश सरकार लगातार प्रताडि़त करती रही। उन पर डबवाली से लेकर चंडीगढ़ में उनके आवास पर हमले किए गए। सरकारी संरक्षण में गुंडों ने उनके घर में घुसकर उन पर तथा उनकी बहन पर हमले किए। सरकार की प्रताडनाओं से तंग आकर रानी नागर को अपने पद से इस्तीफा तक देना पड़ा था। लेकिन जब कांग्रेस ने इस मुद्दे को जोर शोर से उठाया तो उनका इस्तीफा नामंजूर करना पड़ा। अब जब रानी नागर ने दोबारा ज्वाइन कर लिया है तो पिछले 3 महीने से खट्टर सरकार उनको सरकारी भी आवास नहीं दे रही है। मजबूरन उनको चंडीगढ़ के सेक्टर 28डी के गुर्जर भवन में रहना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार आखिरकार क्यों एक महिला आईएएस अधिकारी के साथ ऐसा व्यवहार कर रही है। क्या सीएम खट्टर की सरकार पर पकड़ नहीं है या वे जानबूझकर ऐसा होने दे रहे हैं। गुंडों को शह देकर अधिकारियों को परेशान करने की सरकार की अब नियती बन गई है। क्या यह वही सरकार है, जो बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देती है और भी उन्हीं बेटियों को प्रताडि़त करती है।

सुरजेवाला ने कहा कि एक महिला आईएएस अधिकारी, जोकि पिछड़ा वर्ग से है, उसके साथ भी ऐसा अन्याय और अत्याचार किया जा रहा है, जिसके लिए इस पिछड़ा और महिला विरोधी सरकार को शर्म आनी चाहिए। सरकार अब कोई भी बहानेबाज़ी करे लेकिन बेटियां बचाने की बात कहने वाली इस सरकार का पिछड़ा वर्ग विरोधी असली चेहरा सबके सामने आ गया है।

सुरजेवाला ने कहा कि चंडीगढ़ और पंचकूला में सैकड़ों सरकारी आवास उपलब्ध हैं। राज्यपाल को तुरंत इस मामले का संज्ञान लें और रानी नागर को सरकारी आवास उपलब्ध करवाया जाना चाहिए।