Connect with us

Haryana

सोहना में सब्जी आढ़तियों की दबंगई, पक्का नहीं कच्चा भी नहीं देंगे बिल

Published

on

सत्यखबर, सोहना, संजय राघव
कृषि के 3 नए कानूनों को लेकर जगह-जगह आंदोलन चल रहे हैं लेकिन सोहना की सब्जी मंडी में आढ़तियों की दबंगई पूरी तरह से देखने को मिल रही है| अधिकारियों की मिली भगत के चलते आढ़ती पक्के बिल तो दूर कच्चे बिल भी माशाखोरों को  नहीं दे रहे। जिसको लेकर माशा खोरों ने इसका विरोध शुरू कर दिया है| माशाखोरों ने  आरोप लगाया है कि आढती रोजाना सरकार को लाखों रुपए का चूना मार्केट विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर लगा रहे हैं। जब वह उनसे पक्का बिल मांगते हैं तो उन्हें धमकाकर बाहर भगा दिया जाता है| विरोध करने पर मनमाने दाम पर उन्हें सब्जियां वितरित की जाती है। किसानों की सब्जियां भी सीधे तौर पर मंडियों में नहीं बिकने दी जा रही है|
 माशाखोरों ने  आरोप लगाया है कि सब्जी मंडी के आढ़ती रोजाना अधिकारियों के साथ मिली भगत करके लाखों रुपए का चूना सरकार को लगा रहे हैं व सब्जी विक्रेताओं को पक्के बिल ना देकर कच्चे बिल भी अब नहीं दे रहे। जब कोई दुकानदार पक्का बिल मांगता है तो उसे धमका कर भगा दिया जाता है व मनमाने दाम पर उसे सब्जियों दी जाती है ।इस मामले की शिकायत बार-बार अधिकारी से करने के बाद भी अधिकारी पूरी तरह से  आढ़तियों के पक्ष में खड़े दिखाई दे रहे हैं।
गौरतलब है कि सोहना में किसानों  व माशाखोरो के खिलाफ हो रही लाखों की टैक्स की चोरी को लेकर मामला उठाया था। जिसको लेकर आढती सभी एक होकर इन लोगों को पूरी तरह से प्रताड़ित कर रहे हैं। वही  मासाखोरों ने  आरोप लगाया कि गरीब लोग हैं, उन्हें पुलिस  का भी डर दिखाया जाता है। वही उनके धंधे को चौपट करने की धमकी दे रहे हैं। माशा खोरों ने  बताया कि मार्केट कमेटी विभाग के अधिकारियों के संज्ञान में होने के बाद भी यह मामला पर किया जा रहा है ।इसी को लेकर अब किसान  व मासाखोर को एक बड़ा अभियान के खिलाफ चलाएंगे |