Connect with us

Haryana

स्टेडियम निर्माण में घटिया सामग्री का आरोप, दीवार उखाड़ सबूत मिटाने के प्रयास में लगा ठेकेदार

सत्यखबर निसिंग (सोहन पोरिया) – बीते कई माह से गांव बस्तली की आठ एकड़ पंचायती जमीन में 96 लाख की लगात से आधुनिक किस्म के स्टेडियम का निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिसमें ग्रामीणों ने विभाग के ठेकेदार पर निर्माण में घटिया सामग्री इस्तेमाल करने के आरोप लगाए। ग्राम पंचायत सदस्यों ने भी सामग्री […]

Published

on

सत्यखबर निसिंग (सोहन पोरिया) – बीते कई माह से गांव बस्तली की आठ एकड़ पंचायती जमीन में 96 लाख की लगात से आधुनिक किस्म के स्टेडियम का निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिसमें ग्रामीणों ने विभाग के ठेकेदार पर निर्माण में घटिया सामग्री इस्तेमाल करने के आरोप लगाए। ग्राम पंचायत सदस्यों ने भी सामग्री जांच ठेकेदार को निर्माण बंद करने की बात कही। उन्होंने स्टेडियम की दीवारों में इस्तेमाल की जा रही पिल्ली ईंटों की फोटो व वीडियोग्राफी की। इसके साथ ही प्रशासनिक व पंचायतीराज विभाग के उच्चाधिकारियों को दिखाने के लिए ईंटों व मसाले के सैंपल एकत्रित किए। सरपंच प्रदीप कुमार ने बताया कि स्टेडियम में घटिया सामग्री के इस्तेमाल को देख उन्होंने ठेकेदार के बेटे को काम बंद करने की बात कही थी। उनके जाने के बाद ठेकेदार ने मजदूर लगाकर पिल्ली ईंटों से बनी दीवार गिरा दी। उन ईंटों को मौके से खुर्द बुर्द करने का काम भी शुरू कर दिया। ताकि जांच में पिल्ली ईंटे नही आए।

वहीं निर्माण में दस एक का सीमेंट लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया नींव की डीपी व दीवारों के पिल्लर भी मजबूत नही है। उनमें घटिया सामग्री लगाई गई है। शनिवार को पंचायत सदस्यों ने हल्का विधायक को फोन कर इसकी जानकारी दी। लेकिन व्यस्ता के कारण उन्होंने मंडलाध्यक्ष महिपाल राणा व मोहन गुनियाना को मौके पर भेजा। जिन्होंने पिल्ली र्इंटों की गिराई गई दीवार व स्टेडियम में लगे घटिया ईंटों के चट्टों को निरक्षिण कर हल्का विधायक को इसकी सूचना दी। उन्होंने कहा कि गलत कार्य ठेकेदार व विभाग के अधिकारी करते है, और बदनाम सरकार होती है। उन्होंने ठेकेदार पर कड़ी कार्यवाही करवाने की बात कही।

हांलाकि विभाग के एसडीओ स्टेडियम का निरिक्षण कर कई बार ठेकेदार को लताड़ बढिय़ा सामग्री की हिदायत दे चुके है, लेकिन लगातार उनकी बातों को बार बार दरकिनार किया गया। बस्तली निवासी सुखविंद्र सिंह, प्रदीप कुमार, सिंद्र सिंह, राजेंद्र सिंह, दीपू, ताराचंदे, सुरेंद्र कोच, रमेश कोचे, बलवान, पूर्व सरपंच पवन कुमार, धर्मपाल व बलकार सहित अन्य ने निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल को लेकर विभाग के एक्सईएन व ठेकेदार में मिलीभगत का आरोप लगाया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *