Connect with us

Fatehabad

हनुमान जयंती के अवसर पर गौ दान करने की अनोखी पहल

सत्यखबर,फतेहाबाद(जसपाल सिंह  ) फतेहाबाद में हनुमान जयंती के अवसर पर गौ दान करने की अनोखी पहल, बड़ोपल गांव में गौभक्त राजेंद्र भाटिया ने अपनी लड़की दीक्षा की शादी में शगुन के लिए रखा गौशाला का दानपात्र, शगुन के रूप में मिल रहे पैसे लोगों ने डाले दानपात्र में, शगुन देने शादी में आये मेहमानों ने दिया गऊ दान, शादी […]

Published

on

सत्यखबर,फतेहाबाद(जसपाल सिंह  )

फतेहाबाद में हनुमान जयंती के अवसर पर गौ दान करने की अनोखी पहल, बड़ोपल गांव में गौभक्त राजेंद्र भाटिया ने अपनी लड़की दीक्षा की शादी में शगुन के लिए रखा गौशाला का दानपात्र, शगुन के रूप में मिल रहे पैसे लोगों ने डाले दानपात्र में, शगुन देने शादी में आये मेहमानों ने दिया गऊ दान, शादी में आये मेहमानों ने की इस पहल की प्रशंसा। देशभर में आज श्री हनुमान जयंती का पर्व बड़ी धूमधाम से अलग अलग तरीकों से मनाया गया वही फतेहाबाद जिले में इस पर्व को अद्भुत अंदाज में मनाया गया जिसकी सर्वत्र प्रशंसा की गई यहां के गांव बडोपल में आज हुए विवाह समारोह में वधू दीक्षा की शादी में शगुन के तौर पर उनके पिता राजेंद्र भाटिया को दिए जाने वाले लिफाफे स्वीकार नहीं किए बल्कि उसकी जगह गौशाला के लिए पंडाल में एक दान पत्र रखा गया था तथा विवाह समारोह में सम्मिलित होने वाले लोगों को शगुन की जगह दानपात्र में गौ माता की सेवा के लिए दान देने के लिए प्रेरित किया गया। दीक्षा के परिवार की यह तमन्ना थी की शादी में दिए जाने वाला शगुन इतने मायने नहीं रखता जितना कि बेसहारा व गौशाला में रहने वाली गौ माता के लिए दान जरूरी है लड़की के पिता ने कहा कि यह परिपाटी आगे भी जारी रखी जाएगी तथा लोगों को भी अपने विवाह समारोह आदि में दिए जाने वाला शगन बंद होना चाहिए तथा उनके विवाह समारोह में शामिल सैकड़ों लोगों ने इस बात का संकल्प लेकर श्री हनुमान जयंती का दिवस अनोखे अंदाज में मनाया इससे उन्होंने काफी सुकून हासिल किया है अगर सभी लोग ऐसा करने लग गए तो आने वाले समय में गोवंश भूखा नहीं रहेगा। आज के समारोह में लोगों में दान देने की इतनी श्रद्धा देखी गई कि पंडाल में रखा गया दानपात्र छोटा पड़ गया मैं देखते ही देखते नकद दान से भर गया इस सारी राशि को गौशाला संचालकों को दान स्वरूप मौके पर कन्या के हाथों भेंट कर दिया गया। इस शादी समारोह में ऑर्केस्ट्रा पार्टी या अन्य गीतों की बजाय हनुमान जी के वह श्री राम के भजन बजाय वह गाए गए।

 

3 Comments

3 Comments

  1. Pingback: 3D printing

  2. Pingback: 토토

  3. Pingback: DotNek Web Blog

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *