Connect with us

Fatehabad

हरियाणा में बेटियाें को बचाने में फतेहाबाद जिला बन रहा मिसाल

Published

on

सत्यखबर, फतेहाबाद

बता दे की बेटियां बचाने के मामले में फतेहाबाद जिला सभी के लिए मिसाल बन रहा है। यहां प्रत्येक लड़कों के पीछे 941 लड़कियां जन्म ले रही हैं। प्रदेश में यह सर्वाधिक बेहतर लिंगानुपात है। बेटियां बचाने में जहां पांच जिले बेहतर स्थिति में हैं, वहीं झज्जर और चरखी दादरी सहित सात जिलों में स्थिति चिंताजनक है।प्रदेश में पिछले साल अगस्त तक जहां लिंगानुपात 920 था, वह इस बार 914 आ गया है। बेहतर लिंगानुपात मेें पानीपत 940 बेटियों के साथ दूसरे नंबर पर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहीं से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम का आगाज किया था।

वर्ष 2001 की जनगणना में झज्जर व महेंद्रगढ़ जिलों में लिंगानुपात की स्थिति सबसे खराब थी। राष्ट्रीय स्तर पर लिंगानुपात के मामले में सबसे नीचे रहे जिलों में भी झज्जर व महेंद्रगढ़ सहित हरियाणा के पांच-छह जिले शामिल थे। आज भी झज्जर में लिंगानुपात 875 तक पहुंच सका है। चरखी दादरी, करनाल, भिवानी, रोहतक और साइबर सिटी गुरुग्राम में लिंगानुपात 900 से नीचे है।

जिलों में लिंगानुपात

 

जिला                  लिंगानुपात

1. फतेहाबाद          941

2. पानीपत            940

3. सोनीपत           939

4. सिरसा             938

5. नूंह                  931

6. कैथल              929

7. कुरुक्षेत्र            928

8. पंचकूला           925

9. हिसार              915

10. अंबाला           915

11. यमुनानगर         915    

12. फरीदाबाद          914    

13. रेवाड़ी                913

14. पलवल              909

15. जींद                  905

16. महेंद्रगढ़            900

17. गुरुग्राम             898

18. रोहतक             898

19. भिवानी             891

20. करनाल             888

21. चरखी दादरी      887

22. झज्जर             875

कुल लिंगानुपात       914

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *