Connect with us

Chandigarh

हरियाणा में मानसून सक्रिय, जानिए 5 अगस्त तक किन जिलों में होगी तेज बारिश, कहां आ सकता है तूफान!

Published

on

सत्य खबर, चंडीगढ़। हरियाणा में मानसून लगातार बना हुआ है. ऐसे में मौसम विभाग ने हरियाणा में 5 अगस्त तक तेज बारिश के साथ तूफान आने की संभावना जताई है. विभाग की मानें तो प्रदेश के कुछ जिलों में बारिश ओर भी गंभीर रूप ले सकती है. यही कारण है कि भारत मौसम विज्ञान विभाग ने मेवात, पलवल, फरीदाबाद, झज्जर, गुरुग्राम, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़ और रोहतक में येलो अलर्ट जारी किया है. इस यलो अलर्ट की मानें तो यहां पांच अगस्त तक तेज बारिश होगी. इसके साथ तूफान आने की संभावना जताई जा रही है।

वहीं बारिश के चलते लोगों को जलभराव की स्थिति का सामना भी करना पड़ सकता है. इस येलो अलर्ट के चलते लोगों को अभी बरसात से राहत नहीं मिलने वाली है. हालांकि जिन जगहों पर नहरी पानी की सिंचाई की व्‍यवस्‍था नहीं है वहां बारिश फायदेमंद हैं. मगर जहां पानी की मात्रा ज्‍यादा है वहां बारिश से फसलें खराब हो सकती हैं. अभी हरियाणा के कई गांवों और खेतों में घुटनों तक पानी भरा हुआ है और फसलें खराब हो रही है. जिसके चलते लोग गांवों से पलायन करने को मजबूर हैं. साथ ही कुछ जगह ऐसी भी हैं जहां बारिश से कोई नुकसान नहीं हुआ है।

ये भी पढ़ें:- मेडिसिनिल प्लांट कैमोमाइल की खेती से कर किसान बन रहे लखपति जानिए क्यों है इसकी डिमांड

बात करें हिसार जिले की तो हिसार को ग्रीन अलर्ट पर रखा गया है. यहां अधिक बारिश की संभावना नहीं है. मगर हल्की बारिश कभी भी हो सकती है. शनिवार को जहां धूप निकलने से गर्मी बढ़ गई थी तो रविवार सुबह से ही मौसम में परिवर्तन हो गया. सुबह से ही बादलों से आसमान घिरा हुआ था और ठंडी हवा ने मौसम सुहाना बनाया है. मौसम विज्ञानियों की मानें तो हिसार मे अगले कुछ घंटों में बारिश होने की संभावना है. वहीं चरखी दादरी में बारिश की वजह से गावों में पानी भर गया है. जहां कुछ गांवों के लोग पलायन को मजबूर है. वहीं फतेहाबाद में भी बारिश की वजह से जहां सड़कों और गलियां दरिया नजर आई तो वहीं शहर में बाढ़ जैसे हालात भी नजर आए।

बहरहाल बारिश के इस मौसम में किसान खास कर अपनी फसलों का ध्यान रखे. और अगर फसलों में मात्रा से ज्यादा पानी ठहरा है तो उसको निकालने की निकासी का इंतजाम करके रखे. और जब तक फसलों में पानी की जरुरत नहीं होती तब तक सिंचाई ना करें।