Connect with us

Haryana

12वी कक्षा का शारीरिक फिजिकल का पेपर लीक

सत्यखबर,झज्जर ( संजीत खन्ना  ) झज्जर के लडायान परिक्षा केंद्र में आज 12वी कक्षा का पेपर लीक हो गया। दरअसल आज 12 वी कक्षा का फिजिकल का पेपर था। जो साढे 12 बजे शुरू हुआ था और साढे तीन बजे खत्म , लेकिन लडायान परिक्षा केंद्र पर ये पेपर परिक्षा खत्म होन से पहले ही लीक हो […]

Published

on

सत्यखबर,झज्जर ( संजीत खन्ना  )

झज्जर के लडायान परिक्षा केंद्र में आज 12वी कक्षा का पेपर लीक हो गया। दरअसल आज 12 वी कक्षा का फिजिकल का पेपर था। जो साढे 12 बजे शुरू हुआ था और साढे तीन बजे खत्म , लेकिन लडायान परिक्षा केंद्र पर ये पेपर परिक्षा खत्म होन से पहले ही लीक हो गया। यानि अंदर परिक्षा चल रही थी बाहर युवाओ के मोबाईल में ये पेपर लीक हो रखा था। इस सारे मसले की जानकारी भी परिक्षा देने आए छात्र ने ही मीडिया को दी। दरअसल छात्र नीतेश का परिक्षा केंद्र पर लडयान ही था। लेकिन वो परिक्षा केंद्र में 15 मिनट देरी से पहुंचा था, क्योकि छुछकवास के पास हमेशा जाम रहता है, जिसकी वजह से छात्र देरी से 15 मिनट की परिक्षा केंद्र पहुंचा। छात्र का आरोप है कि परिक्षा केंद्र सुपरीडेंट ने उन्हे देर से पहुंचने का हवाला देकर उसे परिक्षा में नही बैठने दिया, लेकिन जब वो छात्र बाहर आया ता देखा कि परिक्षा केंद्र में जमकर नकल हो रही है और अंदर से बाहर पेपर भी आउट हो रखा है।  आपको बता दे कि झज्जर में अबकि बार की परिक्षाए पूरी तरह से सवालो के घरे मे रही है। नकलरहित कराने का दावा करने वाली सरकार पूरी तरह से सफल नही हो पाई। विशेषकर झज्जर की अगर बात की जाए, तो यहा तो तीसरी आंख में बच्चे नकल करते नजर आए और अब पेपर आउट होने का मामला, तो ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते है कि कैसे हमारेे देश का भविष्य उज्जवल होगा। पेपर लीक या नकल के ज्यादे मामले उसी परिक्षा केंद्रो में देखे गए जहां नीजि स्कूूलो का सेंटर आया हुआ है। परिक्षा केंद्रो में इस तरह से पेपर लीक होना या फिर खुलेआम शिक्षको द्वारा ही नकल कराना परिक्षा केंद्र के उच्चअधिकारियो व नीजि स्क्कूलो के बीच साठ-गाठ की तरफ इशारा कर रही है। इस पूरे खेल में कही न कही साठ-गाठ बू आ रही है। वही इस पूरे मसले में हैरानी की बात ये है कि डीईओ साहब ये कह रहे है उनके स्ंाज्ञान में ये मामला नही है। जबकि खुद एक विद्याथी ने स्वयं ये बताया कि पेपर लीक हो रहा है। समय से पहले वो विधाथी पेपर को मीडिया के समक्ष रखता है वही बाद में जब बाद में परिक्षा खत्म मे होने के बाद लीक हुए पेपर व परिक्षा के खत्म होने के बाद के पेपर का जब मिलाप किया जाता है तो पेपर सेम पाया जाता है, लेकिन अफसोस पेपर कब आउट हुआ ्र कैसे  आउट हुआ, इस बात का पता अधिकारियों तक नही पता , क्योकि डीईओ साहब ने फोन पर तो यही जानकारी दी कि उनके संज्ञान में ये मामला नही है। खैर देखना होगा कि शिक्षा विभाग के अंदर को ये काला ख्ेाल कब तक चलता रहेगा।