Connect with us

Haryana

नगरपरिषद ने सीएम विंडो की डेढ दर्जन शिकायत पर की कारवाई शुरू

दुकानदारों ने बिना अल्टीमेटम दिये सामान उठाने का लगाया आरोप सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) – शहर मे जगह-जगह अवैध अतिक्रमण और अवैध चबूतरों की नगरपरिषद के पास शिकायत पहुंच रही थी, लेकिन नगरपरिषद उनपर कोई कारवाई नहीं कर रहा था। जिससे शहरवासियों ने परेशान होकर सीएम विंडो में शिकायत कर डाली। सीएम विंडो में शिकायत […]

Published

on

दुकानदारों ने बिना अल्टीमेटम दिये सामान उठाने का लगाया आरोप
सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) – शहर मे जगह-जगह अवैध अतिक्रमण और अवैध चबूतरों की नगरपरिषद के पास शिकायत पहुंच रही थी, लेकिन नगरपरिषद उनपर कोई कारवाई नहीं कर रहा था। जिससे शहरवासियों ने परेशान होकर सीएम विंडो में शिकायत कर डाली। सीएम विंडो में शिकायत करने के बाद नगरपरिषद प्रशासन हरकत में आया और उन्होंने लंबित पड़ी लगभग डेढ दर्जन शिकायतों पर कारवाई करने के लिए एसडीएम से अनुमति मांगी। जिसके बाद एसडीएम ने तहसीलदार अजय सिंह को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किया।

तहसीलदार को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त करने के बाद नगरपरिषद सचिव हंसराज, एमई हिमांशु, जेई सुरेश कुमार भारी पुलिस-बल के साथ सीएम विंडो में दर्ज की गई शिकायतों की जगहों पर पहुंचे। सबसे पहले मॉडल टाऊन में दुकानदारों द्वारा अवैध रूप से डाली गयी रेत, बजरी व ईंटों को 2 जेसीबी और 4 ट्रैक्टरों की सहायता से हटाया गया। लोगों ने एकदम प्रशासन की इस कारवाई का विरोध किया और कहा कि उनको बिना सूचना दिये ही यह कारवाई की गई है। इससे उनको नुकसान हो गया है। दुकानदारों ने अपने आप ही सामान उठाने की परमिशन मांगी, जिसके बाद 2 दिन की मोहलत देते हुए सामान उठाने को कहा।

इसके बाद हाऊसिंग बोर्ड के सामने एक दुकान के पीछे बनाये गये पार्क में उगाये गये पेड़-पौधों को भी उखाड़ा गया। जिसका लोगों ने काफी विरोध किया और उनसे पर्यावरण संरक्षण के लिए लगाये गये पेड़-पौधों को उखाडऩे की लिखिल अनुमति दिखाने को कहा, लेकिन अधिकारियों के पास कोई जवाब नहीं था। जिससे वे आगे चलते बने। प्रेमनगर में अवैध चबूतरों की सीएम विंडो में लगाई गई शिकायत पर कारवाई करते उनको उखाड़ा गया। कालोनीवासियों का कहना था कि प्रेमनगर मे सबके अवैध चबूतरे बने हुए हैं, उनको भी उखाड़ा जाये। जिस पर अधिकारियों ने कहा कि उनके पास एक ही शिकायत आई है, इसलिए वे इस पर अमल कर रहे हैं।

बिना अल्टीमेटम दिये प्रशासन ने की कारवाई
दुकानदार दिनेश गर्ग, उमेश, राधेश्याम आदि का कहना था कि प्रशासन गुंडागर्दी पर उतर आया है, क्योंकि दुकानदारों को बिना अल्टीमेटम दिये यह कारवाई की गई है। उनका कहना था कि कारवाई करने से पहले उनको 2 दिन का समय तो देना था, ताकि वे अपना सामान उठा सके। एकदम से कारवाई करने पर उनको हजारों रूपये का नुकसान हो गया है। उन्होंने कहा कि वे प्रशासन की इस कारवाई का विरोध करते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *