Connect with us

Rewadi

केन्द्रीय मंत्री ने दो अधिकारियों को किया कार्यक्रम से बाहर, जानिए क्यों

Published

on

सत्य खबर, रेवाड़ी

सामान्य तौर पर देखा जाता है कि किसी नेता या मंत्री के समारोह में अधिकारी या तो मोबाइल यूज करते मिलेंगे या आपस में बातें करते मिलेंगे। दर असल नेता या मंत्री अपने भाषण में व्यस्यत हो जाते हैं जिससे अधिकारियों को स्वतंत्रता मिल जाती और मौके हाथ में आते ही जेब में रखा मोबाइल हाथ में आ जाता है। हालांकि हरियाणा में गब्बर के नाम से पुकारे जाने वाले प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के कार्यक्रम में अधिकारी या तो आते नहीं आते हैं तो पूरे सक्रिय रहते हैं। वहीं बुधवार को हरियाणा के एक अन्य नेता एवं राज्यसभा सांसद भूपेन्द्र यादव ने भी दो अधिकारियों को कार्यक्रम से बाहर कर यह संदेश दे दिया है कि उनके कार्यक्रम में लापरवाही नहीं चलेगी।

हरियाणा : विधायक धर्मसिंह छौक्कर के बेटे की कंपनी का लाइसेंस रद्द,लोगों ने किया प्रदर्शन

 

 

दरअसल केंद्रीय श्रम एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव के गुस्से का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वीडियो में केंद्रीय मंत्री दो अधिकारियों को मंच से उतरने के लिए कहते हुए सुनाई दे रहे हैं. दरअसल, वीडियो रेवाड़ी के मीरपुर गांव में स्थित कैंसर इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस का है. जहां 2 दिन पहले केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने रेडिएशन सेंटर का उद्घाटन किया था. केंद्रीय मंत्री के कार्यक्रम में प्रोटोकॉल के तहत जिला प्रशासन के अधिकारी भी मंच पर पहुंचे थे. केंद्रीय मंत्री जब भाषण देने लगे तो दो बड़े अधिकारी आपस में बातचीत कर रहे थे. मंत्री की नजर पड़ी तो उन्होंने टोका, लेकिन अधिकारी फिर भी बातों में मशगूल रहे. इसके बाद केंद्रीय मंत्री ने दोनों अधिकारियों को चुप रहने की नसीहत दी और फिर कार्यक्रम से ही बाहर भेज दिया. बता दें कि राजस्थान से राज्यसभा सांसद भूपेंद्र यादव गुरुग्राम जिले के जमालपुर के रहने वाले हैं. केंद्रीय मंत्री बनने के बाद वो रेवाड़ी के कई कार्यक्रम में हिस्सा ले चुके हैं, लेकिन अभी तक उनकी प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कोई बैठक नहीं हुई है. जिसकी वजह से केंद्रीय मंत्री और जिले के अधिकारियों के बीच तालमेल का अभाव देखने को मिला.