Connect with us

NATIONAL

दुल्हे के दोस्त ने दुल्हे को भेजा 50 लाख के मानहानि का नोटिस,जानिए क्यों

Published

on

सत्य खबर,हरिद्वार

आपने कई बार हैरानी वाली खबरें जरूर पढ़ी होंगी पर आज हम आपको बहुत ही हैरानी वाली खबर पढ़ाने जा रहे हैं। दरअसल एक दोस्त अपने दोस्तों को बारात में नहीं ले गया। जिसके बाद नाराज हुए एक दोस्त ने दुल्हे को 50 लाख का मानहानि का नोटिस भेज दिया। जिसके मिलने के बाद दुल्हा व उसका परिवार तो हैरान है ही पर आप भी जरूर हैरान हुए होंगे। चलिए अब आपको बताते हैं कि आखिर पूरा मामला है क्या।

हंसते-हंसाते कमा गए कपिल शर्मा इतने करोड़ रूपए,जानिए पूरी टीम की फीस 

 

 

हंसते-हंसाते कमा गए कपिल शर्मा इतने करोड़ रूपए,जानिए पूरी टीम की फीस 

बता दें कि मामला उत्तराखंड के जिला हरिद्वार का है। जहां पर एक दोस्त ने अपने दुल्हे दोस्त को शादी में बुलाने लेकिन बरात में न ले जाने पर मानहानि का नोटिस थमाया है। दोस्त ने दूल्हे पर 50 लाख का दावा ठोका है। दोस्त का आरोप है कि जब वह बारात के लिए पहुंचा तब तक दूल्हे दोस्त की बारात निकल चुकी थी, फोन करने पर दूल्हे दोस्त ने उसे लौटने को कहा। जिस पर दोस्त नाराज हो गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रवि निवासी आराध्या कॉलोनी बहादराबाद की शादी अंजू धामपुर जिला बिजनौर के साथ 23 जून 2022 को तय हुई थी। दूल्हे रवि ने अपने दोस्त चंद्रशेखर निवासी कनखल को एक लिस्ट बनाकर दी कि वह शादी के कार्ड बांटेगा। दूल्हे के कहने पर चंद्रशेखर ने अन्य सभी दोस्तों को कार्ड बांटे और 23 जून की शाम 5 बजे शादी में पहुंचने को कहा। चंद्रेशखर अपने दोस्तों के साथ निर्धारित समय से पहले ही बारात स्थल पर पहुंच गए। लेकिन तब तक बारात निकल चुकी थी।

दूल्हे के खेद न जताने पर नाराज हुआ दोस्त                                            

जब चंद्रेशेखर ने दूल्हे रवि को फोन किया तो दूल्हे ने बारात निकलने और दोस्तों को वापस लौटने को कहा। जिस पर चंद्रशेखर का कहना है कि उसके साथ आए दोस्तों से उसे मानसिक प्रताड़ना सहनी पड़ी। जिससे चंद्रेशखर की छवि भी खराब हुई। चंद्रशेखर ने इसको लेकर दूल्हे रवि को फोन भी किया। साथ ही मान​हानि को लेकर भी बताया। चंद्रशेखर का आरोप है कि दूल्हे रवि ने न खेद जताया न ही माफी मांगी। जिसके बाद चंद्रशेखर ने दोस्त रवि को कानूनी नोटिस भिजवाया है। साथ ही 3 दिन के अंदर सार्वजनिक रूप से माफी न मांगने पर 50 लाख का जुर्माना भरने को कहा। ऐसा न करने पर मुकदमा दर्ज करने की भी बात की है।