Connect with us

NATIONAL

बिहार : आंधी, बारिश व आसमानी बिजली ने बरपाया कहर, 33 की मौत

Published

on

सत्य खबर,पटना

बीती रात आंधी और तूफान ने भीषण गर्मी से राहत देने के बजाए बिहार के 16 जिलों में जमकर तबाही मचाई है। आकाशी बिजली गिरने और तूफान की चपेट में आने से वजह से 16 जिलों के 33 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। वहीं, दूसरी तरफ लाखों रुपए की संपत्ति भी आंधी-तूफान की चपेट में आने से तबाह हो गई। इन लोगों की मौत पर देश के पीएम नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शोक व्यक्त किया है। साथ ही, मृतक आश्रितों को सीएम नीतीश कुमार ने तत्काल चार-चार लाख रुपए देने की घोषणा भी की।

ऐसे फंसाया 3 युवक व 3 युवतियों ने मैनेजर को हनीट्रैप के जाल जो जिला सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है वो है भागलपुर। भागलपुर में आकाशीय बिजली गिरने के कारण सात लोगों की जान गई है। मुजफ्फरपुर में छह लोगों की मौत की सूचना है। बता दें कि गुरुवार दोपहर को बिहार में तेज बारिश और आंधी का दौर शुरू हुआ था। उस वक्त जगह-जगह पेड़ गिए गए थे और घंटों तक बिजली बाधित रही थी। इसके बाद खबर आई की कई जिलों में आकाशीय बिजली गिरने के कारण लोगों ने अपनी जान गंवा दी है।

ऐसे फंसाया 3 युवक व 3 युवतियों ने मैनेजर को हनीट्रैप के जाल में

 

 

हालांकि, आकाशीय बिजली गिरने से कितने लोगों की मौत हुई इसका आंकड़ा शुरुआत में सामने नहीं आ सका था। लेकिन अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर खुद बता दिया है कि आकाशीय बिजली गिरने से 33 लोगों की मौत हो गई है। साथ ही, फसल को भी भारी नुकसान होने का अनुमान है। सरकार का कहना है कि प्रभावित लोगों को हर स्तर पर मदद की जा रही है। आंधी तूफान की वजह से नुकसान का आकलन किया जा रहा है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘राज्य के 16 जिलों में आंधी एवं वज्रपात से 33 लोगों की मृत्यु दुःखद। मृतकों के आश्रितों को तत्काल 4-4 लाख रु० अनुग्रह अनुदान देने तथा आंधी एवं वज्रपात से हुई गृह क्षति एवं फसल क्षति का आकलन कर प्रभावित परिवारों को जल्द से जल्द सहायता राशि उपलब्ध कराने का निर्देश भी दिया गया। लोगों से अपील है कि खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें। वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का अनुपालन करें। खराब मौसम में घर में रहें और सुरक्षित रहें।’