Connect with us

Jind

भगवान परशुराम के आदर्शो में गरीब-कमेरे के हित समाहित – डिप्टी सीएम

Published

on

सत्य खबर, जींद 

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भगवान परशुराम के आदर्शो में कमेरे एवं गरीब वर्ग के लोगों के हित समाहित थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को उनके सिद्धांतों को अपने जीवन में निरंतर समायोजित करना चाहिए और इसी से व्यक्ति सामाजिक, राजनैतिक एवं आध्यात्मिक क्षेत्र में तरक्की के नित नए कदम आगे बढ़ा सकता है। उपमुख्यमंत्री भगवान परशुराम की जयंती की पूर्व संध्या पर सोमवार को पिल्लूखेड़ा की ब्राह्मण धर्मशाला में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

 

 

डिप्टी सीएम ने कहा कि मौजूदा राज्य सरकार भगवान परशुराम के दिखाए रास्ते कमेरा हित एवं गरीब कल्याण की परिकल्पना को साकार करने के लिए निरंतर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि भगवान परशुराम, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, शहीदे आजम भगत सिंह तथा चौधरी देवीलाल सरीखे महापुरुषों का जन कल्याण में योगदान हमेशा याद किया जाएगा। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि स्व. चौधरी देवीलाल ने सामाजिक एवं आर्थिक रूप से पिछडे वर्ग के हित में अनेक दूरगामी योजनाएं बनाई जिनके सुखद परिणाम वर्तमान में भी महसूस किए जा रहे है। इनमें वृद्धावस्था सम्मान भत्ता, काम के बदले अनाज, जच्चा बच्चा योजना जैसी क्रान्तिकारी योजनाओं का समाज के आम तबके को सीधा फायदा मिल रहा है।

 

 

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कि वर्तमान सरकार में बेरोजगार नौजवानों को हरियाणा के विभिन्न औद्योगिक संस्थाओं में 75 प्रतिशत रोजगार दिलवाने पर गंभीरता से कार्य किया जा रहा है। इसके अलावा कौशल विकास के मामले में परिवार की आय के अनुसार पात्र व्यक्ति को लगातार लाभ प्रदान किया जा रहा है। दुष्यंत चौटाला ने कहा किसान कल्याण राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है और इसी के मद्देनजर पिछले दो साल से किसान की फसल की खरीददारी और निर्धारित समय में किसान के खाते में सीधा भुगतान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान रबी सीजन में अब तक हरियाणा की मंडियों में आई गेहूं का 95 प्रतिशत गोदामों में भिजवाया जा चुका है और कुल खरीदारी की 93 प्रतिशत रकम अदायगी किसानों को की जा चुकी है जो कि अपने आप में सराहनीय कार्य है।

 

 हरियाणा : बीजेपी के विधायक की भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की शपथ,जानिए क्या कहा

 

उपमुख्यमंत्री ने भगवान परशुराम सेवा समिति को धर्मशाला के अधूरे पड़े निर्माण कार्य के लिए 31 लाख रुपये स्वैच्छिक कोष से अनुदान की घोषणा की। समिति द्वारा किए गए अन्य अनुरोध पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पिल्लूखेड़ा की तीनों पंचायतें ग्राम सभा का सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कर सरकार को जमीन देने की स्वीकृति करने पर औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्र बना दिया जाएगा। इसी तरह ग्राम सभा के प्रस्ताव पर पिल्लूखेड़ा को नगर पालिका का दर्जा भी दे दिया जाएगा। उपमुख्यमंत्री ने पिल्लूखेड़ा खंड के अन्तर्गत आने वाले सभी गांवों में अधूरे विकास कार्यों को भी पूरे करवाने की भी घोषणा की। इस अवसर पर जेजेपी के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ केसी बांगड़, जुलाना के विधायक अमरजीत ढांडा ,जेजेपी जिला अध्यक्ष कृष्ण राठी, परशुराम सेवा समिति के संरक्षक राजबीर शर्मा, समिति के अध्यक्ष डॉ कश्मीरी लाल शर्मा ने भी संबोधित किया और हजारों की संख्या में हलका के गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।