Connect with us

Sonipat

मनोहर लाल खट्टर की पुराने चिट्ठी दिखाकर दीपेंद्र हुड्डा ने पूछा अब किस बात का श्रेय ले रहे हो

Published

on

सत्य खबर, सोनीपत 

सांसद दीपेंद्र हुड्डा आज सोनीपत में आयोजित सामाजिक कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री को एनएच-334 बी पैकेज-1 के तहत सांपला-खरखौदा-खेवड़ी बाईपास की ओपनिंग करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। मुख्यमंत्री पहले एनएच-334 बी के प्रोजेक्ट का विरोध करने के लिये जनता से माफी मांगे फिर उद्घाटन करें। दीपेंद्र हुड्डा ने सवाल किया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जिस सड़क की उपयोगिता पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए 16 नवंबर 2018 को केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को चिट्ठी लिखकर एनएच-334 बी को डिनोटिफाई करने की मांग की थी, अब उसका उद्घाटन किस मुंह से कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री खट्टर को सार्वजनिक तौर पर ये स्वीकार करना चाहिए कि इस सड़क की उपयोगिता पर प्रश्नचिन्ह लगाना और इसे रद्द करने की मांग करना उनकी गलती थी।

दीपेंद्र हुड्डा ने बताया कि उन्होंने काफी प्रयास करके इस नये राजमार्ग NH-334 बी को यूपीए सरकार से 2013 में मंजूरी दिलाकर 4 मार्च, 2014 को नोटिफाई कराया था। इसके बाद NH-334 बी के निर्माण का काम शुरू कराने के लिए संसद में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में इसकी पुरजोर मांग उठाई। केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मुलाक़ात करके 21 फ़रवरी, 2015 को प्रोजेक्ट के कार्यान्वयन हेतु धनराशि मंजूर कराकर काम शुरू कराया था। आने वाले समय में ये सड़क जनसाधारण के लिये काफी उपयोगी साबित होगी। दीपेंद्र हुड्डा ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री खट्टर के विरोध के बावजूद इसका काम पूरा कराया।

 

सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने सरकार से मांग करी कि गेहूं उत्पादक किसानों को 500 रुपये प्रति क्विंटल का बोनस दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस बार समय से काफी पहले से ही तेज गर्मी पड़नी शुरु हो गयी और इसकी वजह से गेहूं उत्पादक किसानों को भारी नुकसान हुआ है। समय से पहले पड़ी भीषण गर्मी की वजह से जहां गेहूं का दाना छोटा रह गया, वहीं प्रति एकड़ उत्पादन में भी भारी गिरावट देखी गयी है। उन्होंने कहा कि रोज बढ़ती महंगाई के चलते डीजल-पेट्रोल, खाद, दवाई, बीज और कृषि उपकरणों समेत हर चीज के दाम आसमान छू रहे हैं लेकिन किसानों की फसल का भाव जस का तस है। ऐसे में फसल उत्पादन की लागत बढ़ने और उत्पादन में कमी को देखते हुए किसानों को सरकार आर्थिक मदद मुहैया कराए। उन्होंने कहा कि किसानों को 500 रुपये प्रति क्विंटल बोनस का भुगतान करने से कुछ हद तक उनको हुए नुकसान की भरपाई की जा सकती है।

 

इस अवसर पर विधायक जगबीर सिंह मलिक, विधायक सुरेंद्र पवार, विधायक इंदु राज नरवाल, विधायक जयवीर बाल्मिकी, पूर्व विधायक जयतीर्थ दहिया, पूर्व विधायक सुखबीर फरमाणा, मेयर निखिल मदान, सुरेंद्र शर्मा, सुरेंद्र दहिया, बिजेंद्र आंतिल, कुलदीप वत्स, अर्जुन दहिया, राजकुमार कटारिया, जसपाल खेवड़ा, अनिल गौड़, सतीश कौशिक, कुलबीर सरोहा, ललित पवार, रवि दहिया, सतीश चेयरमैन, राजेश कौशिक, जयपाल आंतिल, जयभगवान आंतिल, हरेंद्र सैनी, कमल हसीजा, कृष्ण मलिक, अनूप मलिक, परमेंद्र जोली, राजीव सरोहा, सुरेश भूटानी, संजय आंतिल, महावीर बंजारा समेत राई हल्के एवं सोनीपत शहर की अनेकों सामाजिक एवम धार्मिक संस्थाओं के गणमान्य लोग मौजूद रहे।