Connect with us

Mewat

मेवात पुलिस ने तीन करोड़ 25 लाख रुपए की जमीन के फर्जी कागजात बनाने वाले आरोपी को किया गिरफ्तार

Published

on

सत्य खबर, कमल कांत शर्मा, मेवात 

मेवात पुलिस कप्तान वरुण सिंगला के नेतृत्व में इकोनॉमिक सेल पुलिस ने 3 करोड़ 25 लाख रुपए की जमीन के फर्जी कागजात बनाकर जमीन मालिक के खिलाफ रजिस्ट्री कराने का दावा ठोकने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

लगभग दो साल पहले दर्ज हुए इस मुकदमे की जांच जहां मेवात के डीएसपी सुधीर तनेजा, डीएसपी रेवाड़ी, एसपी नारनौल सहित गुडगांव के पुलिस आयुक्त रहे आलोक मित्तल ने की वहीं, इस मामले की जांच मेवात पुलिस कप्तान वरुण सिंगला ने कर फर्जी कागजात तैयार करवाने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली है। इकोनॉमिक सेल के इंचार्ज सुरजीत सिंह ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया है। जहां पर अदालत ने उसे दो दिन की रिमांड पर दिया है।

*हरियाणा : एक बार फिर हुए रिश्ते शर्मशार, बाप पर दो बेटियों के लगे गंभीर आरोप*

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार ऋषि कुमार ने बताया कि उनकी धुलावट गांव में 33 केनाल 16 मरला जमीन है, जिसे उन्होंने धूलावट निवासी साहुन पुत्र रमजान को 74 लाख रुपए पर एकड़ के हिसाब से बेचने का एग्रीमेंट लिखवा दिया था और बाकी रकम को रजिस्ट्री पर लेने के लिए एग्रीमेंट लिखा गया था। लेकिन जमीन के मालिक ऋषि कुमार ने बताया कि उन्हें कुछ दिनों बाद कोर्ट से नोटिस आया कि आप पैसे लेकर जमीन की रजिस्ट्री नहीं करा रहे हो इसलिए साहुन ने आपके खिलाफ अदालत में दावा पेश किया है।

जब ऋषि कुमार को ये पता चला तो उसके पैरो तले जमीन खिसक गई और उन्होंने वहां जाकर देखा तो पता चला कि साहुन ने 74 लाख के बजाय 20 लाख रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से फर्जी एग्रीमेंट बनाकर और उनके स्कैन हुए साइन कराकर उनके खिलाफ दावा डाल दिया है जोकि पूरी तरह फर्जी था। जबकि एग्रीमेंट के समय पैसे देते हुए साहुन ने खुद अपनी जुबान से 74 लाख रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से जमीन खरीदने की बात कही थी और जिसकी वीडियो भी उनके द्वारा बनाई गई थी।

ऋषि कुमार ने बताया कि उन्होंने सभी दस्तावेज के साथ आरोपी साहुन के खिलाफ फर्जी कागजात तैयार करवाने और उनके खिलाफ झूठा दावा डालने की थाने में शिकायत लगाई,जिसपर पुलिस ने साहुन के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी। लगभग दो साल चली इस जांच में कई जिलों के एसपी और डीएसपी ने भी अपनी जांच की और साहुन को जांच में दोषी पाया।

*जिन किसानों ने नहीं किया है ये काम उनको नहीं मिलेगी पीएम किसान योजना की 11वीं किस्त*

 

मेवात पुलिस कप्तान वरुण सिंगला द्वारा भी इस मामले की जांच की गई और आरोपी साहुन को दोषी पाकर गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर अदालत में गुरुवार को पेश किया जहां पर साहुन को दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी को दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। जिससे इस मामले से जुड़ी हुई फर्जी कागजात बनवाने की पूछताछ जाएगी। इस मामले में पीड़ितों ने मेवात पुलिस कप्तान का आरोपी को गिरफ्तार करने पर आभार जताया।