Connect with us

Karnal

हरियाणा : गिरफ्तार आंतकियों के खुलासे के बाद पुलिस की इतनी टीमें देश के विभिन्न राज्यों के लिए रवाना 

Published

on

सत्य खबर,करनाल

पुलिस के मुताबिक करनाल से गिरफ्तार आतंकी देश के अलग-अलग हिस्सों में हथियारों की सप्लाई करते थे. इसी को मद्देनजर रखते हुए अब करनाल पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में 8 टीमें बनाई गई हैं. पुलिस की ये टीमें देश के अलग-अलग हिस्सों में रवाना कर दी गई हैं. महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली, तेलंगाना सहित कई राज्यों में दबिश देकर आतंकियों की पूरी योजना का भंडाफोड़ करेंगी. गुरुवार को हरियाणा के करनाल में चार आतंकियों की गिरफ्तारी से देशभर में हड़कंप मच गया था.

खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के आधार पर करनाल पुलिस ने बसताड़ा टोल के पास से चार खालिस्तानी आतंकियों को गिरफ्तार किया था. इनकी पहचान लुधियाना के भूपिंदर सिंह और फिरोजपुर के गुरप्रीत सिंह, परमिंदर सिंह और अमनदीप सिंह के रूप में हुई है. पुलिस के मुताबिक पकड़े गये सभी आरोपी पाकिस्तान में बैठे हरविंदर सिंह रिंदा के आदेश पर देश के अलग-अलग राज्यों में हथियारों की सप्लाई कर रहे थे

.पाकिस्तान में बैठा हरविंदर सिंह रिंदा मोबाइल ऐप के जरिए भारत में अपने गुर्गों को लोकेशन भेजता था. उसी लोकेशन पर इन लोगों को हथियार और विस्फोटक सप्लाई करना होता था. गुरुवार को गिरफ्तार किये गये आतंकियों से जो लोकेशन मिली वो तेलंगाना के आदिलाबाद की थी. गिरफ्तार किये गये चारों आतंकी आदिलाबाद में हथियारों की सप्लाई करने जा रहे थे. पाकिस्तान में बैठा रिंदा ड्रोन की मदद से पंजाब के फिरोजपुर के खेतों में हथियार और विस्फोटक भेजता था.गिरफ्तार किए गये आतंकियों की इनोवा गाड़ी से तलाशी के दौरान एक मैगजीन, देसी पिस्टल, 31 जिंदा कारतूस, 3 लोहे के कंटेनर जो कि प्रथम दृष्टया आईईडी मालूम होते हैं. साथ ही एक लाख 30 हजार रुपये कैश बरामद हुए थे. गाड़ी सवार युवकों से 6 मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं.

यह तो सिर्फ ट्रेलर है, पिक्चर अभी बाकी है- हुड्डा

 

गिरफ्तार संदिग्ध आतंकियों ने प्राथमिक पूछताछ में बताया कि गुरप्रीत के लुधियाना जेल में बंद होने के दौरान उसकी मुलाकात जिला गुरदासपुर के रहने वाले राजवीर से हुई थी. उसने बताया कि उसे ये काम करने के लिए पैसा भी मिलता था. इस विस्फोटक पदार्थ को उन्हें पाकिस्तान स्थित हरविंदर सिंह रिंदा ने ड्रोन के जरिए पंजाब के रहने वाले आकाशदीप के ननिहाल के खेत में पहुंचाये थे. जहां से लेकर आगे भेजना था. लेकिन वो अपने मंसूबे में सफल नहीं हो सके. इससे पहले भी वह इस प्रकार से विस्फोटक पदार्थ और हथियारों प्राप्त करके उसके द्वारा बताई गई लोकेशन पर रखकर आ चुके हैं.