Connect with us

Panipat

हरियाणा : बुढाखेड़ा वासी का 25 हजार ईनामी गैंगेस्टर जीता पहली बार गिरफ्तार,जानिए कैसे

Published

on

सत्य खबर, पानीपत

हरियाणा पुलिस खासकर पानीपत पुलिस के लिए सिरर्दद बन चुका गैंगेस्टर जीता आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। पानीपत पुलिस उसकी एक किशोर की हत्या के मामले में तलाश कर रही थी। हालांकि अब भी वह सोनीपत एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार किया गया है। जिसे एसटीएफ ने पानीपत सीआईए 2 को सौंप दिया है। बता दें कि उस पर 24 मार्च 2022 की रात शादी समारोह में 17 वर्षीय किशोर की गोली मारकर हत्या करने का आरोप है। जींद के सफीदों कस्बे के गांव बुढाखेड़ा के रहने वाले गैंगस्टर जीता को सोनीपत STF ने गिरफ्तार किया है। गैंगस्टर पर पानीपत पुलिस व एडीजीपी क्राइम की ओर से 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था।

 

गैंगस्टर से प्रारंभिक पूछताछ करके सोनीपत STF ने उसे पानीपत CIA-2 को सौंप दिया है। अब गैंगस्टर से पानीपत पुलिस पूछताछ कर रही है। STF हरियाणा चीफ बी सतीश बालन के निर्देशानुसार, सोनीपत STF प्रभारी इंस्पेक्टर प्रवीन शर्मा के नेतृत्व में एसआई राकेश, एएसआई योगेंद्र, एएसआई राजेंद्र, सीटी विकास व सीटी राजीव की टीम गठित करके गैंगस्टर को दबिश देकर दबोचा है।

 

गैंगस्टर पर प्रारंभिक पूछताछ में हत्या, हत्या के प्रयास समेत अन्य संगीन अपराधों की 10 से ज्यादा वारदातों का खुलासा हुआ है। बड़ी बात यह है कि गैंगस्टर पहली बार पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है। हर वारदात के बाद गैंगस्टर फरार हो जाता था और काफी लंबी फरारी काटने के बाद वह कोर्ट में सरेंडर कर देता था। बदमाश की पानीपत के सिवाह गांव के गैंगस्टर प्रसन्न उर्फ लंबू गैंग के साथ भी नजदीकियां हैं। क्योंकि सफीदो में कई वर्ष पूर्व हुए शराब ठेकेदार हत्याकांड में भी प्रसन्न उर्फ लंबू व दलजीत उर्फ जीता केसवार हुए थे।

यह है मामला

 

पानीपत के आजाद नगर में 17 वर्षीय छात्र चिराग अपने दोस्त सुमित के साथ 24 मार्च 2022 की रात कॉलोनी में ही एक शादी समारोह में शामिल हुआ था। गैंगस्टर दलजीत उर्फ जीता भी अपने भांजे के साथ विवाह में पहुंचा था। जब देर रात सभी लोग शराब पी रहे थे, उसी दौरान किसी बात को लेकर चिराग उर्फ गौरव शर्मा से जीता की किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। इसके बाद गैंगस्टर ने पिस्टल से चिराग पर गोली चला दी, जिससे उसकी मौत हो गई थी।

 

चिराग की मां ने बताया था कि बेटा शाम 5 बजे घर से गया था। रात 10:20 मिनट पर उसने कॉल की। चिराग बाइक पर था और कहा रहा था कि मम्मी बहुत जल्द आपसे पास पहुंच जाउंगा। 20 मिनट बाद उसने दोबारा कॉल की तो कहा कि वह दोस्त सुमित के साथ एक ऑफिस पर आ गया है। सुमित को कुछ सामान उठाना है, जिसके तुरंत बाद वह यहां से निकल रहा है। रात 12 बजे पुलिस का ही कॉल आया और मौत की सूचना दी।

*हरियाणा : शुक्रवार रहा पुलिस के नाम, तीन जगहों पर गैंगेस्टर गिरफ्तार, जानिए कौन कहां हुआ गिरफ्तार*

 

वारदातों का खुलासा

 

1. जींद के सदर थाना में 09.11.2010 को धारा 148, 149, 307, 452 IPC व 25-54-59 आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज है। 2. जींद के सफीदों थाना में 19.12.2015 को धारा 25-54-59 आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है।

3. सफीदों थाना में 18.04.2016 को धारा

148,149,307,452 व 25-54-59 आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज है। 4. सफीदों थाना में 05.06.2016 को धारा 148,149,302,307 व 25-54-59 आर्म्स एक्ट में केस दर्ज है। 5. सिविल लाइन जींद थाना में 08.12.2017 को 42 Prison एक्ट के तहत केस दर्ज है। 6. जींद सिटी थाना में 18.02.2017 को 42 Prison एक्ट के तहत केस दर्ज है। 7. जींद के सिटी थाना में 17.02.2017 को 42 Prison एक्ट के तहत केस दर्ज है। 8. जींद सिविल लाइन थाना में 17.02.2018 को धारा 323,325 व 42A Prison एक्ट के तहत केस दर्ज है।