Connect with us

Haryana

यूपी में योगी के बाद हरियाणा में खट्टर चलवाने लगे बुलडोजर, जानिए किस पर

Published

on

After Yogi in UP, bulldozers started running Khattar in Haryana

सत्य खबर, करनाल

करनाल में अपराधियों की प्रॉपर्टी को ध्वस्त करने का सिलसिला शुरू हो गया है। मंगलवार को जहां कुंजपुरा रोड पर प्रशासन ने गैंगस्टर नीरज पूनिया के फार्म हाउस पर पीला पंजा चलाया था। गुरुवार को भी NDPS एक्ट के एक अपराधी के होटल को ध्वस्त किया गया।After Yogi in UP, bulldozers started running Khattar in Haryana

 

दोपहर बाद तरावड़ी के होटल पैराडाइज को ध्वस्त करने के लिए प्रशासनिक अधिकारी दलबल के साथ पहुंचे। जहां पर होटल के मालिक और उनके परिवार वालों ने विरोध किया। उन्होंने प्रशासन से होटल को तोड़ने से पहले सामान निकालने के लिए समय मांगा।

 

परिजनों ने बताया कि प्रशासन यह कह रहा है कि उन्होंने होटल के मालिक को नोटिस दिया था, लेकिन उनको कोई नोटिस नहीं मिला। यदि नोटिस दिया गया है तो एक बार प्रशासन जरूर दिखाए। प्रशासन उनके साथ गलत कर रहा है और उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। बताया जा रहा है कि होटल की प्रॉपर्टी किसी सुखदयाल के नाम पर है, जिसको NDPS एक्ट में सजा हो चुकी है और वह अब जमानत पर बाहर है।After Yogi in UP, bulldozers started running Khattar in Haryana

Also read:

*पति को हुआ किन्नर से प्यार तो पत्नी ने किया ऐसा कि आप सोच भी नहीं सकते*

 

Also read:

*राहुल गांधी का बयान बना गहलोत के सीएम पद के लिए खतरा, जानिए कैसे*

 

परिजनों के मुताबिक, यह होटल 2007 में बना था, लेकिन अब इसको तोड़ा जा रहा है। अगर कार्रवाई करनी थी तो पहले की जानी चाहिए थी। वह तरावड़ी के रहने वाले हैं। प्रशासन कहता है कि नोटिस दिया हुआ है, लेकिन कोई अधिकारी नोटिस की कॉपी तो दिखा दे। प्रशासन कहता है कि सात दिन पहले नोटिस दिया गया है, लेकिन उस नोटिस को कोई तो रिसीव करता।

 

DTP आरएस भट ने बताया कि प्रशासन की तरफ से होटल से सामान निकालने के लिए एक घंटे का समय दिया गया था, लेकिन होटल के मालिक व परिजन प्रशासन के साथ बहस करते रहे। समय निकलने के बाद होटल पर बुलडोजर चला दिया गया। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए भारी पुलिस बल तैनात रहा। यह प्रॉपर्टी अवैध बनी हुई थी। जिसके चलते इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया।After Yogi in UP, bulldozers started running Khattar in Haryana