Connect with us

Rohtak

अनिल विज ने रोहतक की इस पुलिस चौकी के पूरे स्टाफ को किया सस्पेंड, जानिए क्यों

Published

on

Anil Vij suspended the entire staff of the police post

सत्य खबर, रोहतक 

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज शुक्रवार को रोहतक में पहुंचे। जहां पर एफआईआर दर्ज नहीं करने पर सख्त हुए अनिल विज ने रोहतक की सुखपुरा चौक पुलिस चौकी के पूरे स्टाफ को सस्पेंड करने के निर्देश दिए। मामला 12 मई का है, जब एडवोकेट शिकायत देने सुखपुरा चौक पुलिस चौकी में गया था। जहां पर पुलिस स्टाफ शराब के नशे में मिला और समय पर एफआईआर दर्ज नहीं की।

 

इधर, मामले में पहुंचे एडवोकेट व उनके विरोध पक्ष सहित पुलिस ने भी अपनी-अपनी बातें रखी। साथ ही एडवोकेट व दूसरे पक्ष में पुलिस कर्मचारी सस्पेंड करने को लेकर विरोध दिखा। जिसको लेकर कुछ समय दूसरे पक्ष ने हंगामा किया और एक महिला की तबीयत भी खराब हो गई। वहीं बाद में मामले को शांत कर दिया। सुखपुरा चौक निवासी एडवोकेट उमेश कुमार ने अपनी बात रखते हुए कहा कि वह 3 मई को घूमने गया था। इस दौरान वहां के ही एक युवक ने उसका पीछा किया। जिसके बाद चाकू से हमला बोल दिया। इसके बाद 12 मई को उक्त युवक व उसके साथी चाकू लेकर घर के सामने गाली-गलौज करने लगे। जिसके बाद पीड़ित मामले की शिकायत देने के लिए सुखपुरा पुलिस चौकी में पहुंचा।Anil Vij suspended the entire staff of the police post

Also read:

*2022 का आठवां महीना चल रहा है किसान की आमदनी दोगुनी कब होगी- दीपेंद्र हुड्डा*

Also read:

* 300 करोड़ से बनाए जा रहे बांध में हुआ रिसाव, खाली कराए गए इतने गांव*

 

Also read:

*स्वतंत्रता दिवस समारोह के सफल आयोजन हेतु अधिकारियों की बैठक ली*

 

उमेश कुमार ने आरोप लगाया कि उस समय पूरा स्टाफ शराब के नशे में था। उसके साथ अच्छा व्यवहार भी नहीं किया। साथ ही उसकी शिकायत भी दरी्ज नहीं की गई। अगले दिन वह जिला लोक संपर्क एवं परिवेदना समिति की बैठक में इस मुद्दे को रखा। जिसके कारण पुलिस वाले उससे रंजिश रखने लगे और एससी-एसटी के मामले में फंसाने की धमकी दी।

 

आरोपी पक्ष के एक व्यक्ति ने खा लिया था जहरीला पदार्थ

 

25 मई को आरोपी पक्ष के एक व्यक्ति ने जहरीला पदार्थ खा लिया। जिसके बाद आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला भी उमेश के खिलाफ दर्ज कर दिया। उमेश ने कहा कि पुलिस वालों ने उसे पहले के मामले में कार्रवाई के नाम पर थाने बुलाया और बिना कपड़ों के ही बैठाकर रखा और घरवालों को भी इसकी सूचना नहीं देने दी।Anil Vij suspended the entire staff of the police post

Also checkout:

https://satyakhabarviral.com/

मंत्री अनिल विज ने कहा कि सभी पुलिस वालों को शिकायत आते ही एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। लेकिन उमेश के मामले में पुलिस ने पूरी निष्ठा से काम नहीं किया और लापरवाही बरती गई है। साथ ही पुलिस चौकी में शराब पीना भी गलत है। इसलिए उस समय सुखपुरा चौक पुलिस चौकी में तैनात पूरे स्टाफ को सस्पेंड किया गया है। साथ ही स्टेट क्राइम बंाच मामले की जांच करेगी।

Also read:

*अब तिरंगे को लेकर मुसीबत में फंसे यती नरसिंहानंद गिरि, जानिए क्या कह डाला*

Also read:

*पति की हत्या कर प्रेमी को पति बताकर सांस से कराती रही फोन पर बात,ऐसे खुला हत्या का राज*

 

Also read:

*DELHI:दसवीं की तीन छात्राओं के साथ दुष्कर्म के बाद बेचने की थी तैयारी, जानिए फिर क्या हुआ*

 

पुलिस चौकी सस्पेंड मामले में दूसरा पक्ष भी मंत्री अनिल विज के सामने पेश हुआ। इस दौरान एक महिला की तबीयत भी खराब हो गई। जिन्हें चक्कर आ गया और मौजूद स्टज्ञफ ने उन्हें सभाला। दूसरे पक्ष ने कहा कि एडवोकेट मंथली रुपये लेता है और ना देने परे दबाव बनाना आरंभ कर देता है।Anil Vij suspended the entire staff of the police post

 

सुखपुरा पुलिस चौकी का पूरा स्टाफ सस्पेंट करने पर पुलिस भी अनिज विज के समक्ष पेश हुई। पुलिस ने कहा कि उनकी इसमें कोई गलती नहीं है। जो आरोप लगाए गए हैं, वे सभी झूठे हैं। जबकि मंत्री ने पुलिस की फरियाद को दरकिनार करते हुए कहा कि अब जांच की जाएगी, जांच में पानी का पानी और दूध का दूध हो जाएगा।