Connect with us

Chandigarh

हरियाणा में बीजेपी को बड़ा झटका, एकबार फिर कांग्रेस में बंपर ज्वाइनिंग 

Published

on

Big blow to BJP in Haryana, once again bumper joining Congress

सत्य खबर , चंडीगढ़

हरियाणा में कांग्रेस का कुनबा लगातार बढ़ता जा रहा है। अलग-अलग पार्टियों के बड़े नेता लगातार कांग्रेस का दामन थाम रहे हैं। इसी कड़ी में आज 5 बड़े नेताओं ने पार्टी का दामन थामा। पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा व हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी उदयभान के नेतृत्व में पांचों नेताओं ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा भी मौजूद रहे।

 

वरिष्ठ नेता और 6 बार विधायक रह चुके प्रोफेसर संपत सिंह ने दीपेंद्र सिंह हुड्डा के साथ कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल से मुलाकात के बाद आज विधिवत रूप से भाजपा छोड़कर कांग्रेस ज्वाइन की। प्रोफेसर संपत सिंह पूर्व में वित्त मंत्री और नेता प्रतिपक्ष जैसे पदों पर आसीन रह चुके हैं।

Also read – जिला परिषद चुनावों से पहले आम आदमी पार्टी का बढ़ा कुनबा, इंद्री क्षेत्र में आम आदमी पार्टी की हुई जबरदस्त एंट्री

Also read – दुनिया के सबसे अमीर आदमी ने बेचा अपना घर, क्यों बेचा जानने के लिए पढ़े ये खबर

 

 

इस मौके पर उन्होंने कहा कि वो कभी भूपेंद्र सिंह हुड्डा व कांग्रेस से दूर नहीं हुए थे। लेकिन कांग्रेस के भीतर रहकर कुछ स्वार्थी नेता पार्टी को लगातार कमजोर करने में लगे थे। ऐसे नेताओं की वजह से ही लगातार 2 बार कांग्रेस को सत्ता से बाहर रहना पड़ा। ऐसे लोगों की वजह से ही उन्हें कांग्रेस छोड़ने का फैसला करना पड़ा था। लेकिन अब पार्टी के साथ भीतरघात करने वालों का सच सार्वजनिक हो चुका है और वो कांग्रेस से बाहर जा चुके हैं। इसलिए उन्होंने फिर से भूपेंद्र सिंह हुड्डा और चौ. उदयभान के नेतृत्व में कांग्रेस ज्वाइन करने का फैसला लिया है।

 

नारनौंद से पूर्व विधायक रामभगत शर्मा और नारनौल से पूर्व विधायक रहे राधेश्याम शर्मा ने भी आज बीजेपी छोड़कर कांग्रेस का दामन थामा। हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट छोड़कर हिम्मत सिंह ने भी घर वापसी करते हुए कांग्रेस के लिए संघर्ष का ऐलान किया। इनके अलावा बैंक एसोसिएशन के बड़े नेता रहे ललित अरोड़ा ने भी कांग्रेस ज्वाइन कर अपने राजनीतिक सफर का आगाज किया।

 

इस मौके पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि यह सभी नेता अपने-अपने इलाकों की मजबूत आवाज हैं। कद्दावर नेताओं द्वारा पार्टी ज्वाइन करने से प्रदेश में कांग्रेस को मजबूती मिलेगी। लगातार पार्टी की बढ़ती ताकत से स्पष्ट हो चुका है कि प्रदेश में आने वाली सरकार कांग्रेस की होगी। हुड्डा ने पार्टी में शामिल हुए सभी सदस्यों को पूर्ण मान सम्मान का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि सभी नेताओं ने सही समय पर सही फैसला लिया है।

 

चौधरी उदयभान ने कांग्रेस का पटका पहनाकर सभी नेताओं का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि आज एकबार फिर परिवार के पुराने सदस्य इकट्ठा हो गए हैं। भविष्य में सभी मिलकर भाजपा की जनविरोधी और सांप्रदायिक नफरत वाली नीतियों को हराने का काम करेंगे। इनके आने से अग्निपथ योजना, बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर सरकार के खिलाफ जारी लड़ाई को मजबूती मिलेगी। आने वाले चुनाव में कांग्रेस बीजेपी-जेजेपी सरकार को उखाड़ फैंकने का काम करेगी।

 

कांग्रेस में शामिल होने वाले नेताओं की सूची- 

 

1. प्रो. संपत सिंह- प्रो. संपत सिह 1980 से राजनीति में सक्रिय हैं। 6 बार विधायक रह चुके हैं। प्रदेश के वित्त मंत्री और नेता प्रतिपक्ष जैसे पदों पर आसीन रह चुके हैं। उन्होंने बीजेपी छोड़कर कांग्रेस ज्वाइन की है।

 

2. राधेश्याम शर्मा- राधेश्याम शर्मा बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए हैं। राधेश्याम शर्मा ने 2005 में नारनौल से निर्दलीय चुनाव लड़ा तथा जीत हासिल की थी। उनके भाई चौटाला सरकार में राज्य मंत्री रहे हैं।

 

3. प्रो. रामभगत शर्मा- नारनौंद से निर्दलीय विधायक रहे रामभगत शर्मा ने 2019 में बीजेपी ज्वाइन की थी। वो बीजेपी छोड़ने के बाद कांग्रेस में शामिल हुए हैं।

 

4. हिम्मत सिंह- यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रह चुके हिम्मत सिंह ने 2014 में अंबाला सिटी से कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर 35 हजार वोट मिली थीं। वो 2019 में हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट में शामिल हुए थे। एचडीएफ छोड़कर उन्होंने कांग्रेस ज्वाइन की है।

 

5. ललित अरोड़ा- ऑल इंडिया पंजाब नेशनल बैंक एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे ललित अरोड़ा ने कांग्रेस के साथ अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की है। ललित अरोड़ा मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र करनाल के प्रभावशाली नेता हैं।

 

6. हिसार और आदमपुर से दर्जनभर पूर्व सरपंचों ने भी कांग्रेस ज्वाइन की।