Connect with us

Chandigarh

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का चाचा अभय चौटाला को बड़ा चैलेंज, जानिए क्या कहा

Published

on

Big challenge to Deputy CM Dushyant Chautala’s uncle Abhay Chautala

सत्य खबर, चंडीगढ़

हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि उनके पास जो विभाग हैं, कोई उनमें अनियमितताएं साबित कर दें तो वे इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने दावा किया कि एक रुपए के रेवेन्यू की चोरी नहीं हुई। एक गलती जरूर आई थी, जिसमें 7 ए की परमिशन के तहत बिना NOC के रजिस्ट्री कर दी गई। टोटल रेवेन्यू अफसर चार्जशीट कर दिए गए। पांच रुपए का भी नेगेटिव रेवेन्यू कोई साबित करे तो वे इस्तीफा दे देंगे। बता दें कि अभय सिंह चौटाला ने राजस्व विभाग में अनियमितताओं का आरोप लगाया था।

Also read – महाराष्ट्र:सीएम शिंदे के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं बागी विधायक, जानिए कैसे

 

Also read – दुनिया के सबसे अमीर आदमी ने बेचा अपना घर, क्यों बेचा जानने के लिए पढ़े ये खबर

 

दुष्यंत बीती रात को फतेहाबाद में जजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष डॉ.विरेंद्र सिवाच के निवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कैग रिपोर्ट में आबकारी विभाग में सामने आई अनियमितताओं पर कहा कि यह रिपोर्ट गलत है। उन्होंने पूरी रिपोर्ट पढ़ी है। इतना जरूर है कि हमें भेजे गए सुझावों को 6 महीने में पूरा करना था, उसमें एक साल लग गया। उन्होंने कहा कि मैं तो विधानसभा में अगले दिन सारे कागज लेकर गया था, लेकिन किसी ने सवाल पूछा ही नहीं।

 

एनडीए की सांझा रैली का प्रयास

 

डिप्टी सीएम ने 9 दिसंबर को जजपा के स्थापना दिवस को लेकर कहा कि वे चाहते हैं कि एनडीए की एक सांझा रैली हो, इसको लेकर वे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मिल चुके हैं। जैसे ही प्रोग्राम तय होगा, घोषित कर दिया जाएगा। उन्होंने हर घर तिरंगा अभियान पर कहा कि उन्होंने एक माह की अपनी सैलरी इसलिए दे दी है ताकि हर घर पर तिरंगा लहरा सके।

 

 

राशन डिपूओं के माध्यम से इसलिए तिरंगे दिए जा रहे हैं, ताकि हर गली तिरंगे पहुंच सकें। 20 लाख झंडे 10 हजार डिपूओं पर बंटवाए जा रहे हैं, इसका रेट भी केंद्र सरकार से मिले रेट को ही निर्धारित किया गया है। उन्होंने आह्वान किया कि गांव स्तर पर ऐसे बुजुर्गों को सम्मानित किया जाए, जिनका जन्म आजादी से पहले हुआ। उनके अनुभव सांझा किए जाएं।

 

डिपू होल्डरों को नोटिस

 

राशन डिपूओं पर तिरंगा न लेने पर राशन न देने की शिकायतों पर दुष्यंत ने कहा कि उनके सामने यमुनानगर, अंबाला, कुरुक्षेत्र के तीन मामलेआए हैं। तीनों में डिपो संचालकों को नोटिस दिया गया है, दोबारा ऐसी गलती मिली तो डिपो लाइसेंस रद्द किए जाएंगे।

 

पंचायत चुनाव में सिंबल पर फैसला नहीं

 

पंचायत चुनाव सिंबल पर लड़ने संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी कोई फाइनल फैसला नहीं लिया है, जिले वार बैठक लेकर सुझाव लिए जा रहे हें। एक सुझाव आया है कि पंच और सरपंच चुनाव सिंबल पर न लड़ा जाए और पंचायत समिति व जिला परिषद के चुनाव सिंबल पर लड़े जाएं। इस अवसर पर प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, जिला अध्यक्ष सुरेंद्र लेगा, अजय संधु सहित अनेक नेतागण मौजूद रहे।