Connect with us

Rewadi

हरियाणा में अब इस गैंगस्टर की दर्जनों दुकानों पर चला बुलडोजर

Published

on

Bulldozers ran on dozens of gangster shops in Haryana

सत्य खबर, रेवाड़ी

हरियाणा में गैंगस्टर और नशा तस्करों की कमर तोड़ने के लिए की जा रही तोड़फोड़ की कार्रवाई के तहत शुक्रवार को रेवाड़ी शहर में भी प्रशासन का बुलडोजर गैंगस्टर की प्रॉपर्टी पर चलना शुरू हो गया है। कालका रोड पर महर्षि वाल्मीकी ट्रस्ट की जमीन पर बनी 47 से ज्यादा दुकानें तोड़ी जा रही है।Bulldozers ran on dozens of gangster shops in Haryana

 

इस ट्रस्ट का प्रधान बदमाश सुनील ढुलगच है। सुनील आलू गैंग का सरगना है और फिलहाल गुरुग्राम की भोंडसी जेल में बंद है। आरोप है कि बगैर नक्शा पास कराए अवैध तरीके से दुकानें बनाकर लोगों को पगड़ी पर बेच दी गई। सभी दुकानें किराए पर है, जिनमें लोगों ने व्यापार किया हुआ है। तोड़फोड़ की कार्रवाई में 3 जेसीबी मशीने लगी हुई हैं।Bulldozers ran on dozens of gangster shops in Haryana

 

शुक्रवार सुबह साढ़े 10 बजे कार्रवाई शुरू होनी थी। लेकिन एक घंटे की देरी से नगर परिषद के अधिकारियों के अलावा ड्यूटी मजिस्ट्रेट नायब तहसीलदार भूपसिंह, डीएसपी अमित भाटिया, डीएसपी सुभाष चंद भारी पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे और तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू की गई। तोड़फोड़ की कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में लोग भी मौके पर मौजूद रहे।Bulldozers ran on dozens of gangster shops in Haryana

विधायक भी पहुंचे, कार्रवाई पर उठाया सवाल

 

दुकानें तोड़े जाने की सूचना के बाद रेवाड़ी से कांग्रेसी विधायक चिरंजीव राव भी पहुंचे और कार्रवाई पर सवाल खड़े किए। चिरंजीव राव ने कहा कि एक आदमी ने गलती की है तो सजा गरीबों को क्यों दी जा रही है। उन्होंने कहा कि दुकानें ट्रस्ट की जमीन पर बनी है। ऐसे में ट्रस्ट के सदस्य भी बदले जा सकते है। इस तरह गरीबों द्वारा गाढ़ी कमाई से बनाई गई दुकानें तोड़ना ठीक नहीं है। विधायक करीब एक घंटे तक लोगों के बीच ही रहे। इस दौरान लोगों ने विधायक के सामने कार्रवाई को रूकवाने की मांग भी की।

Also read:

*काबुल में आत्मघाती हमले के दौरान 32 की मौत,जानिए पूरा मामला*

 

 

Also read:

*सपा के कार्यालय पर चला योगी का बुलडोजर, जानिए कहां और क्यों*

 

फरीदाबाद में लाला का साम्राज्य हो चुका ध्वस्त

 

दो दिन पहले ही फरीदाबाद में नशे के सबसे बड़े सौदागर रहे बिजेन्द्र उर्फ लाला के अवैध साम्राज्य को ध्वस्त किया था। उसने सेक्टर-22 की मछली मार्केट में सरकारी जमीन पर काफी इमारतें और दुकानें बनाई हुई थी, जिसके किराये पर दिया हुआ था। फरीदाबाद प्रशासन ने 18 इमारत को ध्वस्त कर दिया था। लाला पर नशा तस्करी के अलावा कई संगीन मामले दर्ज थे। बीमारी के चलते कुछ साल पहले उसकी मौत हो गई थी। लाला ने अवैध कमाई कर करोड़ों रुपए की संपत्ति अर्जित की हुई है।Bulldozers ran on dozens of gangster shops in Haryana

 

देर रात ही खाली होने लगी दुकानें

 

प्रशासन ने 29 सितंबर तक इन दुकानों को खाली करने का नोटिस ट्रस्ट के गेट पर चस्पा किया था। 30 सितंबर को तोड़फोड़ की कार्रवाई की डेडलाइन दी गई। इन दुकानों पर व्यापार करने वाले लोगों का कहना है कि नगर परिषद ने 2 दिन पहले नोटिस चस्पा किया है। उन्होंने 12 से 15 लाख रुपए देकर पगड़ी पर दुकानें ली हुई हैं, जिसका हर माह किराया भी चुकता करते हैं।

Also read:

*काबुल में आत्मघाती हमले के दौरान 32 की मौत,जानिए पूरा मामला*

 

दुकानदारों ने कहा कि अगर दुकानों को बनाने में किसी तरह की खामियां हैं तो ट्रस्ट के प्रधान पर कार्रवाई होनी चाहिए। इन खामियों को पूरा करने के लिए उन्हें समय दिया जाना चाहिए। त्योहार के सीजन में इस तरह तोड़फोड़ करने से उनका पेट पालना भी मुश्किल हो जाएगा।Bulldozers ran on dozens of gangster shops in Haryana

 

वहीं दूसरी तरह गुरुवार देर रात पुलिस बल एरिया में आया, जिसे देखकर कुछ लोगों ने रात में ही दुकानें खाली करनी शुरू कर दीं। इस दौरान सतीश यादव भी पहुंचे और कहा कि अगर किसी ने गलत किया है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। दुकानदारों ने थोड़े गलत किया है।

 

गुरुग्राम में गैंगस्टर का आलीशान कोठी ध्वस्त हो चुकी

 

कुछ दिन पहले ही गुरुग्राम के मानेसर नगर निगम की टीम ने बार गुर्जर गांव में एनसीआर के खूंखार अपराधी सूबे गुर्जर की आलीशान कोठी ध्वस्त कर दी थी। करीब 500 वर्गगज में बनी इस आलीशान कोठी को गिराने में दो दिन का वक्त लग गया था। निगम का कहना था कि गैंगस्टर ने इस कोठी को अवैध तरीके से बनाया था। सूबे गुर्जर पर हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, रंगदारी, फिरौती जैसे 40 से ज्यादा मामला दर्ज है। फिलहाल वह भोंडसी जेल में बंद है। उस पर गुरुग्राम, दिल्ली, नूहं, मेवात, पलवल और रेवाड़ी में काफी मामले दर्ज है।Bulldozers ran on dozens of gangster shops in Haryana