Connect with us

Sonipat

सोनीपत रोड रेज मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार,जानिए कौन है यह

Published

on

five accused arrested in sonepat road rage case

सत्य खबर,सोनीपत

कुंडली थाना के सामने थार गाड़ी से कुचलकर हरियाणा रोडवेज के चालक जगबीर की हत्या के मामले में सोनीपत सीआईए 2 को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार आरोपी प्रांजल, कुणाल और विकास को सीआईए ने धर दबोचा. थार गाड़ी में सवार चौधी महिला आरोपी मोनिका को पुलिस दिल्ली से पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. पुलिस ने थार में सवार सभी 4 मुख्य आरोपियों समेत 5 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है.

इससे पहले 12 सितंबर को पुलिस ने थार गाड़ी की मालकिन को दिल्ली से गिरफ्तार किया था. थार की मालकिन आरोपी ऋतु खुराना दिल्ली की रहने वाली है. आरोप है कि ऋतु ने आरोपी मोनिका को शरण दी थी. पुलिस ने महिला आरोपी के साथ ही घटना को अंजाम देने वाली थार गाड़ी को भी अपने कब्जे में ले लिया था. बताया जा रहा है कि वारदात वाले दिन ऋतु का बेटा प्रांजल आपने साथियों के साथ दोस्त का जन्मदिन मनाने मुरथल आया था. इस घटना का मुख्य आरोपी प्रांजल ऋतु खुराना का बेटा है.five accused arrested in sonepat road rage case

ALSO READ:

बॉबी कटारिया के गुरुग्राम स्थित घर पर लगा कुर्की का नोटिस

सोनीपत रोडरेज मामला 6 सितंबर का है. जब सुबह सोनीपत के कुंडली थाने के सामने थार चालक ने हरियाणा रोडवेज के ड्राइवर जगबीर के ऊपर कार चढ़ाकर उसकी हत्या कर दी थी. बताया जा रहा है कि थार गाड़ी प्रांजल चला रहा था. थार में उसके साथ कुणाल, विकास और महिला मित्र मोनिका ग्रोवर मौजूद थीं. इन लोगों के साथ जगबीर की कुछ बहस हो गई थी. जगबीर दिल्ली रोडवेज में ड्राइवर था. जब वो बस में सवार होकर जाने लगा तो थार सवार लोगों ने उसका पीछा किया. रास्ते में बस रोककर जब जगबीर नीचे उतरा तो इन लोगों उसे थार से कुचल दिया. मौके पर ही जगबीर की मौत हो गई.five accused arrested in sonepat road rage case

दिनदहाड़े हुई इस वारादात से हर कोई सन्न रह गया था. ड्राइवर जगबीर की मौत के बाद हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर दिया. आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर हरियाणा रोडवेज कर्मचारी ने चक्काजाम कर पुलिस पर गिरफ्तारी का दबाव बनाया था.जगबीर की हत्या के बाद उसके छोटे बेटे संदीप ने सदमे में आकर जहर खा लिया था. अस्पताल में इलाज के दौरान संदीप की भी मौत हो गई. संदीप ने वहीं पर जाकर जहर खाया था जहां पिता का अंतिम संस्कार किया गया था. गंभीर हालत में उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन डॉक्टर उसे बचा नहीं सके.five accused arrested in sonepat road rage case