Connect with us

Rewadi

ड्राई-डे में कैसे खुले ठेके? जानिए कहां बिकी धड़ल्ले से शराब

Published

on

How to open contracts on dry day?

सत्य खबर,रेवाड़ी

रेवाड़ी में सोमवार यहको स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ड्राई-डे होने के बावजूद शराबियों को शराब खरीदने में कोई परेशानी नहीं हुई. आजादी के अमृत महोत्सव में शराब ठेकेदारों ने जमकर चांदी कूटी है. प्रदेश के कई जिलों में शराब ठेकों के अंदर से ही चोरी छुपे शराब बेची गई. ऐसा ही एक वीडियो रेवाड़ी के धारूहेड़ा कस्बा से वायरल हुआ है.

सेक्टर-6 हाऊसिंग बोर्ड के सामने खुले शराब के ठेके के कर्मचारी सुबह सवेरे ही ठेके के अंदर दाखिल हो गए और फिर पहले से बनाए गए ‘चोर ठिकानों’ से शराब बेची गई. इसके अलावा भी कई ग्रामीण इलाकों में शराब ठेके पर इसी तरह शराब बेची गई. हालांकि आबकारी विभाग के अधिकारियों ने ठेकों को बंद करने का आदेश दिया हुआ था, लेकिन बावजूद इसके कमाई के चक्कर में शराब ठेकेदारों ने आदेशों की कोई परवाह नहीं की.How to open contracts on dry day?

ALSO READ:

Arvind Kejriwal Birthday: PM मोदी ने केजरीवाल को दी बर्थडे की बधाई, सीएम ने कही ये बात

साल में 3 दिन बंद रहते है शराब ठेके
हर साल स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मदिन के मौके पर 2 अक्टूबर को प्रदेशभर में ड्राई-डे होता है. इसदिन शराब ठेकों को पूर्णतय बंद रखा जाता है. लेकिन पहले की तरह इस बार भी स्वतंत्रता दिवस पर विभाग के आदेश बेअसर दिखाई दिए. ग्रामीण इलाके में तो शराब ठेकेदार दुकान ही खोले दिखाई दिए, जबकि कुछ जगह ठेके के अंदर ही बनाई गई जगह से खरीददार शराब खरीदते नजर आए.How to open contracts on dry day?

फिल्ड में नहीं होते अधिकारी
VO3. भले ही शराब ठेके को ड्राई-डे पर बंद रखने का आदेश होता है. बावजूद इसके ठेकों से ही खराब बिकना आबकारी विभाग पर भी सवालियां निशान लगाता है. इसके पीछे का कारण यह होता है कि अधिकारी खुद ही फिल्ड में नहीं होते है. जिसकी वजह से दुकान का शटर भले ही डाउन रहे, लेकिन शराब बेचने में ठेकेदारों को कोई हिचकिहाट नहीं होती.

आपको बता दें कि सरकार और अबकारी विभाग के द्वारा साल में 3 दिन बंद करने के निर्देश शराब ठेकेदारों को दिया जाता है..लेकिन शराब ठेकेदारों द्वारा ऐसे ही. नियम को ताक पर रखकर को ठेंगा दिखाया जाता है.