Connect with us

Faridabad

मंदाकिनी ने ली बॉलीवुड के लोगों की क्लास, जानिए क्या कहा

Published

on

Mandakini took class of Bollywood people

सत्य खबर, फरीदाबाद

बायकॉट…पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर यह शब्द काफी वायरल हो रहा है। अक्षय कुमार की फिल्म सम्राट पृथ्वीराज से शुरू हुआ बायकॉट ट्रेंड अब ब्रह्मास्त्र तक जा पहुंचा है। इंडस्ट्री में चल रहे कैंसिल कल्चर ने न केवल स्टार्स की छवि को नुकसान पहुंचाया है, बल्कि उनकी फिल्मों के कलेक्शन को भी प्रभावित किया है। इंडस्ट्री की ऐसी हालत देख 25 साल बाद पर्दे पर वापसी करने वाली अभिनेत्री मंदाकिनी बोलीं, बायकॉट और कैंसिल कल्चर स्टार्स के गुस्से का नतीजा है।

मीडिया हाउस से बातचीत के दौरान दाऊद इब्राहिम की एक्स-गर्लफ्रेंड मंदाकिनी कहती हैं, यह सारी चीजें देखकर बहुत दुख होता है। हमारे जमाने में ऐसा कल्चर नहीं था। तब निर्देशकों को गुरू की नजरों से देखा जाता था। हम सभी अभिनेता उनकी इज्जत करते थे, उनका सम्मान करते थे। अब इंडस्ट्री में वो अपनापन नहीं रहा। शायद यही वजह है कि आज इंडस्ट्री के लोग एक-दूसरे पर आरोपों की बारिश करते रहते हैं।’Mandakini took class of Bollywood people

ALSO READ:

पीएम मोदी ने किया एशिया के सबसे बड़े अस्पताल का उद्घाटन,कही ये बड़ी बात

ALSO READ:

सरकारी स्कूलों को बंद करने की साजिश कर रही है भाजपा सरकार: अनुराग ढांडा

ALSO READ:

सोनाली फोगाट के पीए पर लगा रेप कर मारने का आरोप, जानिए किसने लगाया

मंदाकिनी आगे कहती हैं, अब लोगों के अंदर अहंकार का भाव आ गया है। कलाकारों को ऐसा लगता है कि उनकी बदौलत ही यह इंडस्ट्री चल रही है। मेरा मानना है कि कलाकार के अंदर अहंकार होना ही नहीं चाहिए। इंसान जितना भी ऊंचाई पर रहे, उसे उतना ही विनम्र होना चाहिए। दरअसल, हमारे दर्शक हमें देखते हैं, हमसे प्यार करते हैं, हमें फॉलो करते हैं। ऐसे में जब वह अपका अहंकार देखते हैं तो गुस्सा हो जाते हैं। बायकॉट और कैंसिल कल्चर इसी गुस्से का नतीजा है।Mandakini took class of Bollywood people

मंदाकिन ने कहा, इसका दूसरा पहलू भी है। हो सकता है कि इंडस्ट्री के लोग ही इस कल्चर को बढ़ावा दे रहे हों। जी, मुझे ऐसा लगता है कि यह सब एक प्लानिंग के तहत हो रहा है। सरकार और इंडस्ट्री के लोग मिलकर यह कल्चर डेवलप कर रहे हैं। मुझे तो इस बात का भी शक है कि एक-दूसरे के बारे में बोल रहे इंडस्ट्री के लोगों को भी कोई सिखाकर आगे खड़ा कर रहा है। अब तो हर एक चीज में बेईमानी नजर आने लगी है।’