Connect with us

Chandigarh

स्वतंत्रता दिवस पर इस बार सांसद व विधायक लहराएंगे तिरंगा, जानिए कौन कहां पर लहराएगा

Published

on

On Independence Day this time MPs and MLAs will wave the tricolor

सत्य खबर, चंडीगढ़

हरियाणा में स्वतंत्रता दिवस समारोह 15 अगस्त को हर्षोल्लास, जोश, उत्साह और गौरवपूर्ण ढंग से मनाया जाएगा। प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर सुबह 9 बजे के तुरंत बाद ध्वाजारोहण होगा। इस बार राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय अंबाला में और मुख्यमंत्री मनोहर लाल पानीपत के समालखा में झंडा फहराएंगे।

Also read – अंजलि अरोड़ा को करोड़पति बनाने में सोशल मीडिया का योगदान, जानिए कैसे

Also read – दुनिया के सबसे अमीर आदमी ने बेचा अपना घर, क्यों बेचा जानने के लिए पढ़े ये खबर

 

सांसदों-विधायकों को इस बार बड़ी जिम्मेदारी

15 अगस्त को ध्वजारोहण को लेकर इस बार सरकार ने बड़ा बदलाव किया है। अब तब के प्रदेश के इतिहास को देखें तो हरियाणा में गवर्नर और सीएम के साथ मंत्रियों को जिला स्तरीय कार्यक्रमों में ध्वजारोहण के लिए मुख्यातिथि बनाया जाता था। इस बार चौंकाने वाले फैसले में सीएम से लेकर बड़े मंत्रियों को उपमंडल स्तर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में ध्वजारोहण करने की जिम्मेदारी मिली है। जिला मुख्यालयों पर सांसदों और विधायकों को ही ध्वजारोहण की जिम्मेदारी दी गई है। इसको लेकर मुख्य सचिव की ओर से मंगलवार को जो पत्र जारी किया गया है, उसमें ये स्पष्ट नहीं है कि जिला स्तरीय कार्यक्रम जिला मुख्यालयों पर होंगे या फिर उन उपमंडलों में जहां पर सीएम और मंत्रियों को ध्वजारोहण करना है।

पत्र के अनुसार उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला बहादुरगढ़ और स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता असंध में ध्वाजारोहण करेंगे। गृहमंत्री अनिल विज यमुनानगर के रादौर में ध्वजारोहण करेंगे। वहीं मंत्रीगण, नेता प्रतिपक्ष, संसद सदस्य, विधायक व अधिकारी मुख्य सचिव कार्यालय द्वारा जारी सूची के अनुसार तिरंगा फहराएंगे।

 

राज्य में हुए अब तक के स्वतंत्रता दिवस समारोहों को देखें तो अभी तक यही प्रावधान रहा है कि जिन जिलों में गवर्नर, सीएम और मंत्री नहीं जा पाते थे वहां पर संबंधित जिले के डीसी ही तिरंगा ध्वज लहराते थे। सांसद और विधायकों को इन समारोह में ध्वजारोहण की जिम्मेदारी नहीं मिलती थी।

सरकार ने इस बार जिला मुख्यालयों पर होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह में सांसद और विधायकों को जिला मुख्यालयों पर ध्वजारोहण की जिम्मेदारी दी है, जबकि सीएम और मंत्री उपमंडल स्तर पर ध्वजारोहण करेंगे। अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि मुख्यमंत्री समालखा में स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल होंगे तो जिलास्तरीय स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम समालखा में होगा या फिर पानीपत में।