Connect with us

Chandigarh

हरियाणा के विधायकों को धमकी देने वाले गिरोह के तार पाकिस्तान से जुड़े , जानिए पूरा मामला

Published

on

Strings of gang threatening Haryana MLAs linked to Pakistan

सत्य खबर, चंडीगढ़

हरियाणा के विधायकों से करोड़ों रुपए मांगने वाले कुख्यात गिरोह के तार के तार पाकिस्तान से जुड़े हैं। STF की जांच में खुलासा हुआ है कि विधायकों को धमकी देने वाले सभी गिरफ्तार युवकों पाकिस्तान से संबंध हैं। इनकी ओर से हवाले के जरिए 2 करोड़ 77 लाख रुपए पाकिस्तान भेजे गए हैं। 8 महीने में कुल 727 बैंक खातों में से 867 बार पाकिस्तान में करोड़ों रुपए भेजे गए। पाकिस्तान और मिडिल ईस्ट में बैठे सरगना ही आम जनता से लेकर खास लोगों से ठगी और फिरौती से रुपए वसूल रहे हैं।

Also read – हरियाणा: रविवार को फिर बढ़े पेट्रोल और डीजल के दाम जाने आपके शहर में कितना है रेट

Also read – दुनिया के सबसे अमीर आदमी ने बेचा अपना घर, क्यों बेचा जानने के लिए पढ़े ये खबर

 

बता दें कि हरियाणा में 26 जून से 28 जून के बीच 4 विधायकों को दुबई और पाकिस्तान के मोबाइल नंबर से जान से मारने की धमकी देते हुए फिरौती के लिए कॉल आई। जिन विधायकों को धमकी भरी कॉल्स आई उनमें सोनीपत के विधायक सुरेंद्र पंवार, सफीदों के सुभाष देशवाल, सोहना के विधायक संजय सिंह और साढ़ौरा की विधायक रेणु बाला शामिल है। विधायकों की शिकायत पर अलग-अलग एफआईआर दर्ज की गई।

 

 

हरियाणा STF ने दो सप्ताह पहले इस मामले में गुलेश आलम व बदरे आलम निवासी बिहार, अमित यादव, राधेश्याम, सनोज कुमार और कैश आलम को अलग अलग स्थानों से गिरफ्तार किया था। कैश आलम मिडिल ईस्ट के देशों में रहकर आया था। एसटीएफ की जांच में सामने आया कि जिन फोन नंबरों से कॉल आई, वह मिडल ईस्ट देशों के नंबर हैं और उन्हें पाकिस्तान में बैठकर ऑपरेट किया जा रहा है। पंजाब के कुछ पूर्व विधायकों को भी इन्हीं नंबरों से धमकियां दी गईं। सभी विधायकों से अलग-अलग भाषा में बातचीत की गई। शुरुआती जांच के अनुसार, इस गैंग के 10 मेंबर पाकिस्तान में बैठे हैं।

 

 

गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ और जुटाई गई जानकारी के बाद एसटीएफ ने खुलासा किया है कि विधायकों को धमकी देने वाले सभी गिरफ्तार युवकों के तार पाकिस्तान से जुडे हैं। पाकिस्तान में बैठे सरगनाओं ने ही युवकों से हरियाणा के विधायकों को जान से मारने धमकी लाई थी। 8 महीने में कुल 727 बैंक खातों में से 867 बार करोड़ों रुपए पाकिस्तान भेजें जा चुके हैं। साथ ही हवाला के ज़रिए लगभग 2 करोड़ 77 लाख रुपए भेजे गए। सोशल मीडिया से आम से खास लोगों के फोन नंबर जुटाए जाते थे।