Connect with us

Delhi

 100 से भी ज्यादा गाड़ियों में पहुंचे बारातियों ने किया ऐसा काम की सब रह गए दंग

Published

on

This unique raid of Income Tax Department at businessman’s house

 सत्य खबर, नई दिल्ली

राहुल वेड्स अंजलि’ की शादी के स्टिकर, दुल्हन हम ले जाएंगे स्टिकर लगी 100 से अधिक गाड़ियों में बैठकर आए थे बाराती. इतनी लंबी कार की कतार देखकर लोग भी हैरान थे. सबको लग रहा था कि किसी बड़े रईसजादे की बारात जा रही है, जिसमें इतने बाराती और इतनी गाड़ियां शामिल हैं. लेकिन जब इन बारातियों ने जो खुलासा किया उसे देखकर किसी को अपनी आंखोंं पर यकीन नहीं हो रहा था.

 

इस अनोखी छापेमारी में मिले 390 करोड़

महाराष्ट्र के जालना में कारोबारी के घर पर आयकर विभाग की इस अनोखी रेड ने लोगों को अचंभित कर दिया और जब छापेमारी में नोटों की गड्डियां और सोने के जेवरात निकलने लगे तो इसे गिनने वाले अधिकारियों की भी आंखें फटी रह गईं.

Also read:

*हरियाणा: जानिए 12 अगस्त के अपने शहर के पेट्रोल और डीजल के दाम*

 

आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के जालना में 3 अगस्त को एक उद्योगपति के कई ठिकानों पर छापेमारी में 58 करोड़ रुपये नकद और 32 किलो सोना समेत, कुल 390 करोड़ रुपये की बेहिसाब संपत्ति जब्त की. इस रकम को गिनने में 13 घंटे का समय लगा.

 

आयकर विभाग के 300 अधिकारियों ने स्टील कारोबारी की कई कंपनियों और उसके घरों पर छापेमारी की थी. इस छापेमारी में कुछ दस्तावेज, 32 किलो सोना, 58 करोड़ रुपये की नकद राशि मिली. आयकर विभाग द्वारा कुल 390 करोड़ रुपये की बेहिसाब संपत्ति जब्त की गई.This unique raid of Income Tax Department at businessman’s house

 

राहुल वेड्स अंजलि था कोड वर्ड

जानकारी के मुताबिक तीन अगस्त की सुबह आयकर विभाग के 100 से अधिक वाहन जालना में दाखिल हुए. गाड़ियों पर विवाह समारोह के ‘राहुल वेड्स अंजलि’ के स्टिकर लगे थे. सैकड़ों की संख्या में आई इन गाड़ियों के भीतर 400 से अधिक अधिकारी और कर्मचारी सवार थे.

Also read:

* 12 अगस्त का राशिफल:इन राशि वालों का हो सकता है रिश्ता पक्का*

 

पूरे ऑपरेशन के तहत छापेमारी को अंजाम दिया गया

गाड़ियों के इतने बड़े काफिले को देख पहले तो जालना निवासियों को कुछ समझ नहीं आया. उन्हें ऐसा लग रहा था कि ये गाडियां किसी शादी समारोह के लिए आई होंगी. लेकिन श्रावण के महीने में विवाह समारोह की बात लोगों को थोड़ी अजीब लगी थी.हालांकि कुछ देर बाद पता चल ही गया कि सैकड़ों गाड़ियों में सवार आए लोग बाराती नहीं, आईटी के अधिकारी हैं और ये मेहमान शादी समारोह में नहीं बल्कि रेड करने के लिए आए थे.This unique raid of Income Tax Department at businessman’s house

 

लोगों को ऐसा लगे कि गाड़ियां किसी की शादी में जा रहीं हों. सभी गाड़ियों की पहचान के लिए एक कोड वर्ड भी लगाया गया. कोड वर्ड था- दुल्हन हम ले जाएंगे. फिल्मी अंदाज में हुई छापेमारी में आयकर विभाग को बड़ी कामयाबी मिली.