Connect with us

Crime

लखबीर की हत्या में शामिल थे 3 और निहंग

Published

on

सत्य खबर, सोनीपत

हरियाणा में सोनीपत जिले के सिंघु बॉर्डर पर पिछले हफ्ते हुई पंजाबी युवक लखबीर सिंह की नृशंस हत्या से जुड़े मामले में तीन और निहंग शामिल थे. लखबीर सिंह की हत्‍या के मामले में सरेंडर कर चुके 4 निहंगों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उनके अलावा तीन और निहंग आरोपी हैं. अब पुलिस को इन तीनों आरोपी निहंगाों की तलाश है.

पुलिस की टीमें मंगलवार को इन तीनों की तलाश में सिंघु बॉर्डर के कई ठिकानों पर पहुंची लेकिन कुछ खास सबूत नहीं मिल पाए. इस बीच पुलिस ने सरेंडर करने वाले निहंग भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत के कुछ और कपड़े भी उनके डेरे से अपने कब्जे में ले लिए हैं. मंगलवार को सोनीपत पुलिस ने चारों आरोपियों को साथ ले जाकर कुछ स्थानों की निशानदेही भी करवाई.
सिंघु बॉर्डर पर 15 अक्टूबर को, दशहरे वाली सुबह हुई लखबीर सिंह की हत्या के मामले में 4 निहंग नारायण सिंह, सरबजीत सिंह, भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत पुलिस के सामने सरेंडर कर चुके हैं. पुलिस इन चारों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है. चारों निहंगों ने पूछताछ में बताया कि इस वारदात में उनके साथ 3 और लोग भी शामिल थे.

ये है पूरा मामला, बैरीकेड से बंधा पाया गया था लखबीर सिंह का शव

दलित मजदूर लखबीर सिंह का शव शुक्रवार को दिल्ली-हरियाणा सीमा पर एक बैरीकेड से बंधा पाया गया था, जहां केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनकारी डेरा डाले हुए हैं. सिंह का एक हाथ काट कर अलग कर दिया गया था और उसके शरीर पर धारदार हथियारों के वार से बने कई जख्मों के निशान थे.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो क्लिप में, कुछ निहंगों को घायल व्यक्ति के इर्दगिर्द खड़े देखा गया. वे लोग सिंह पर एक पवित्र धर्म ग्रंथ की बेअदबी का आरोप लगा रहे थे.

मृतक के परिवार ने घटना की उच्चस्तरीय जांच कराए जाने की मांग की थी. पंजाब के तरन तारन में सिंह के पैतृक गांव में उनकी अंत्येष्टि शनिवार शाम कड़ी सुरक्षा के बीच उसके परिवार के सदस्यों की मौजूदगी के बीच की गई थी.

सरबजीत सिंह, पहला व्यक्ति था जिसे लखबीर सिंह की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था. उसे शनिवार को सोनीपत की अदालत में पेश किया गया था, जिसने उसे सात दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया था.

ये भी पढ़ें… जन समस्याओं का हल राज से होता है, इस्तीफा देने से नहीं – डॉ. अजय चौटाला  

पुलिस के मुताबिक, इसके कुछ ही घंटों बाद नारायण सिंह को अमृतसर ग्रामीण पुलिस ने अमृतसर जिले के अमरकोट गांव से गिरफ्तार किया था. उसे रविवार सुबह हरियाणा पुलिस सोनीपत लेकर आई.