Connect with us

Haryana

खंड विकास एवं पंचायत कार्यालय परिसर में सरपंचों का तीसरे दिन भी धरना जारी

सत्यखबर,इंद्री (मैनपाल कश्यप  ) खंड विकास एवं पंचायत कार्यालय परिसर में सरपंचों का धरना प्रदर्शन आज तीसरे दिन भी जारी रहा इस धरने में सरपंचों के साथ ग्राम सचिव वह कई सियासी दलों के लोगों ने समर्थन देकर सरपंचों को समर्थन दिया सरपंचों का समर्थन करने के लिए राजीव गांधी पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश चेयरमैन […]

Published

on

सत्यखबर,इंद्री (मैनपाल कश्यप  )

खंड विकास एवं पंचायत कार्यालय परिसर में सरपंचों का धरना प्रदर्शन आज तीसरे दिन भी जारी रहा इस धरने में सरपंचों के साथ ग्राम सचिव वह कई सियासी दलों के लोगों ने समर्थन देकर सरपंचों को समर्थन दिया सरपंचों का समर्थन करने के लिए राजीव गांधी पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश चेयरमैन डॉक्टर सुनील पवार अपने साथियों के साथ सरपंचों के धरने पर पहुंचे इस अवसर पर सरपंचों ने सरकार की नीतियों के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की नारेबाजी की। सरपंचो ने  सरकार की नीतियों पर ही सवाल खड़े कर दिए इस मौके पर सरपंचों ने सवाल खड़ा किया की किसी सत्तासीन नेता वह अधिकारियों के कार्यक्रमों को लेकर आयोजित होने वाले समारोह पर सरपंचों के लाखों रुपए खर्च हो जाते हैं लेकिन वह कागजों में नहीं चढ़ते इतना ही नहीं अधिकारियों को दी जाने वाली पेट पूजा भी कागजों में नहीं चढ़ती क्योंकि इन के द्वारा  ली गई सेवा शुल्क की कोई रसीद नहीं दी जाती सरपंचो ने  इस बात पर जोर दिया कि जब इस तरह के कार्यक्रमों किए गए खर्चे कागजों में नहीं चढ़ते तो फिर सरपंचों से इस तरह के खर्चे क्यों कराए जा रहे हैं सरपंचों ने यह भी कहा कि यदि उनकी मांगों को पूरा नहीं किया तो यह सरकार को महंगा पड़ेगा।  पंचायती राज प्रकोष्ठ के चेयरमैन डॉक्टर सुनील पवार ने कहा कि सरकार सरपंचों को चोर और बेईमान बताने का प्रयास कर रही है जो सरासर सरपंचों के साथ बेइंसाफी है सरपंच चुने हुए प्रतिनिधि हैं और उन्हें चोर व बेईमान बताना सत्ता सीन नेताओं को शोभा नहीं देता उन्होंने कहा कि पंचायती राज प्रकोष्ठ वह कांग्रेस पार्टी सरपंचों के आंदोलन में उनके साथ है उन्होंने कहा कि भाजपा फूट डालो और राज करो की नीति पर चल रही है भाजपा को जनप्रतिनिधियों का अपमान करने का कोई अधिकार नहीं उन्होंने जोर देकर कहा कि भाजपा सरकार को सरपंचों के आंदोलन के आगे झुकना पड़ेगा।  सरपंच प्रतिनिधि प्रदीप  ने कहा कि सरपंच का अपमान सहन नहीं किया जाएगा सरपंचों की मांगों को यदि तत्काल सरकार ने पूरा नहीं किया तो सरपंच सरकार की कब्र खोदने से पीछे नहीं हटेंगे उन्होंने कहा कि सरपंचों के धरने पर इनेलो कांग्रेस व अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं का समर्थन मिल रहा है सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी भी इस धरने को समर्थन कर सरकार की नीतियों की आलोचना कर रहे हैं।