Connect with us

Haryana

प्रधानमंत्री ने संसद में जीएसटी नहीं बल्कि अर्थव्यस्था का घण्टा बजाया – सांसद दीपेंद्र हूडा

रैली में नहीं कोई ड्रेस कोड, ये है पार्टी का सामूहिक फैसला सत्यखबर, जींद – हरियाणा पहले विकास में नम्बर एक था लेकिन आज विनाश में एक नम्बर हो गया है, हरियाणा महिलाओं पर अपराध में नम्बर एक पर आ पहुंचा है ये शब्द कांग्रेस सांसद दीपेन्द्र हुड्डा का है जो देर रात जींद में […]

Published

on

रैली में नहीं कोई ड्रेस कोड, ये है पार्टी का सामूहिक फैसला

सत्यखबर, जींद – हरियाणा पहले विकास में नम्बर एक था लेकिन आज विनाश में एक नम्बर हो गया है, हरियाणा महिलाओं पर अपराध में नम्बर एक पर आ पहुंचा है ये शब्द कांग्रेस सांसद दीपेन्द्र हुड्डा का है जो देर रात जींद में व्यापारी सम्मेलन में पहुंचे थे। उन्होंने ने बीजेपी से पूछा 10 साल में एक बार भी हरियाणा बन्द नही हुआ लेकिन 4 साल में चार बार हरियाणा बंद हुआ। उसके बाद उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय छर्रे तक नहीं चले लेकिन बीजेपी राज में 76 लोगो की जान गई। कांग्रेस ने “अपराधियो के लिए अपराध छोड़ दो या दुनिया” इस सिस्टम पर काम किया और आज हरियाणा में अपराध बढ़ा है।

कांग्रेस राज में प्रदेश में 1800 किलोमीटर नेशनल हाईवे मंजूर किये गए वहीँ बीजेपी ने 1 किलोमीटर भी नेशनल हाईवे सड़क मंजूर नहीं करवाई। कांग्रेस ने 27 यूनिवर्सिटी बनाई जिसमे 12 यूनिवर्सिटी सरकारी हैं लेकिन बीजेपी ने एक भी नई यूनिवर्सिटी नहीं दी। उन्होंने कहा कि बीजेपी बुलेट ट्रेन की बात करती है लेकिन आज तक एक भी नई रेल लाइन नहीं बिछाई।

दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि सरकार आते ही जींद में मॉडल इंडस्ट्रियल टाउन बनाएंगे। महम में प्रस्तावित एयरपोर्ट को बीजेपी ने यूपी पलायन कराया, रेल कोच फैक्ट्री भी बनारस चली गई और स्विफ्ट कार के मैन्युफैक्चरिंग कार्य को भी गुजारत भेज दिया है। बीजेपी के कारण देश में आर्थिक मंदी आयी है। प्रधानमंत्री ने संसद में जीएसटी नहीं बल्कि अर्थव्यस्था का घण्टा बजाया। बीजेपी ने कफ़न पर भी लगाया टैक्स जबकि अंग्रेजो के समय भी कफ़न पर टैक्स नहीं लगता था।

अर्थव्यवस्था को चलाने के दो तरीके हैं किसान और व्यापारी की खुशहाली। अगर कांग्रेस सरकार आयी तो कोई इंस्पेक्टर दुकानों पर कदम नहीं रख पायेगा और
इंस्पेक्टर राज खत्म होगा। अमित शाह की जींद रैली पर किया कटाक्ष करते हुए कहा कि बीजेपी जींद से बजा चुनावी बिगुल रही थी, बिगुल तो नहीं बजा लेकिन बीजेपी की हवा जरूर निकल गई।

29 अप्रैल के लिए जनता को न्यौता दिया और दिल्ली की रैली में पगड़ी नही पहनने पर कहा कि अबकी बार कोई ड्रैस कोड नहीं होगा ये फैसला कांग्रेस पार्टी का सामूहिक फैसला है। इनलो बसपा गठबंधन का कोई महत्व नहीं हैं और ना दोनों दलों के पास नेतृत्व है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.