Connect with us

Haryana

सरकार गेहू खरीद के लिए पुख्ता प्रबंध करे : बजरंग दास गर्ग 

सत्यखबर, चंडीगढ़  हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व  हरियाणा कान्फैड के पूर्व चेयरमैन बजरंग दास गर्ग ने कहा कि सरसो खरीद की भुगतान मंडी आढ़तियों के माध्यम से ही  होना चाहिए। सरकार की तरफ से गेहू व अनाज की हर खरीद पर आढ़तियों को 2.5 प्रतिशत आढ़त मिलेगी।हरियाणा के  मुख़्यमंत्री से हुई बातचीत […]

Published

on

सत्यखबर, चंडीगढ़

 हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व  हरियाणा कान्फैड के पूर्व चेयरमैन बजरंग दास गर्ग ने कहा कि सरसो खरीद की भुगतान मंडी आढ़तियों के माध्यम से ही  होना चाहिए। सरकार की तरफ से गेहू व अनाज की हर खरीद पर आढ़तियों को 2.5 प्रतिशत आढ़त मिलेगी।हरियाणा के  मुख़्यमंत्री से हुई बातचीत पर सिर्फ सरसो खरीद पर ही 1.25 रूपए आढ़तियों को आढ़त मिलेगी।  प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने कहा कि प्रदेश में कृषि उपज हर अनाज की खरीद व उसका भुगतान पहले की तरह आढ़तियों के माध्यम से लगातार होना चाहिए और अनाज की खरीद ऑनलाइन की बजाय पहले की तरह ही की जानी चाहिए। ताकि प्रदेश के किसानो को अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की दिक्कत ना रहे।  प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने कहा कि हरियाणा में गेहू की बम्पर पैदावार होती है। सरकार 1  अप्रैल 2018  से जो गेहू की खरीद करने जा रही है उस गेहू खरीद के लिए सभी प्रकार के पुख्ता प्रबंध करने चाहिए। जिसमे वारदान,गेहू के  कटे की सिलाई, लकड़ी के करेंट व उढान की व्यक्स्था सुचारु रूप से की  जाए और किसान की फसल का भुगतान मंडी के आढ़तियों के माध्यम से 72  घंटे के अंदर – अंदर सरकार की तरफ से होना चाहिए।अगर गेहू उठाने में किसी भी प्रकार की देरी होती है देरी होने के कारण धुप में गेहू सूखने के कारण जो भी घटती आये। उस घटती के पैसे गेहू उठाने वाले ठेकेदार या सरकारी खरीद एजेंसियो के अधिकारियो से वसूले जाए। जबकि सरकारी एजेंसी द्धारा गेहू खरीदने के बाद गेहू सरकारी एजेंसियो की हो जाती है। सरकारी एजेंसियो द्वारा गेहू उठान समय पर ना करने का खामियाजा आढ़तियों पर नहीं पड़ना चाहिए।