Connect with us

Delhi

पुलिस ने कसी कमर: किसानों के रेल रोको आंदोलन पर रेलवे हुआ अलर्ट, जीआरपी आरपीएफ रखेगी चप्पे-चप्पे पर नजर

Published

on

सत्यकबर

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों की ओर से 18 अक्तूबर सोमवार को रेल रोको आंदोलन की धमकी के बाद रेलवे प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है। जीआरपी व आरपीएफ को सुरक्षा की जिम्मेदारी मजबूत करने के निर्देश दिए गए हैं और चप्पे-चप्पे पर नजर रखने की हिदायत मिली है। रविवार को एसपी जीआरपी सौमित्र यादव ने जीआरपी और आरपीएफ के अधिकारियों के साथ रेलवे स्टेशन और परटिरयों पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बातचीत की। साथ ही दिशानिर्देश भी जारी किए। लखनऊ के आसपास के रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा बलों की निगरानी के लिए स्पेशल टीम गठित की गई है।

इतना ही नहीं किसानों के रेल रोको आंदोलन को देखते हुए आरपीएफ और जीआरपी के अलावा स्थानीय पुलिस की भी मदद ली जाएगी। चारबाग, लखनऊ जंक्शन, बादशाहनगर सहित आलमनगर, मल्हौर, उतरेटिया, ट्रांसपोर्टनगर, दिलकुशा, मानक नगर, अमौसी, मोहीबुल्लापुर स्टेशनों तथा आउटरों पर आरपीएफ को तैनात कर दिया गया है। स्टेशन पर सीसीटीवी के जरिए नजर रखी जाएगी। पुलिस ने कसी कमर, 44 कंपनी पीएसी तैनात रेल रोको आंदोलन को बेअसर करने के लिए पुलिस ने पूरी तैयारी कर ली है। एक ओर 14 संवेदनशील जिलों में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों की तैनाती की गई है।

ये भी पढ़ें… लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ देशभर में किसानों का आज ‘रेल रोको’ आंदोलन

वहीं किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पीएसी और अर्ध सैनिक बल की तैनाती की गई है। अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि आंदोलन को देखते हुए जिलों में सतर्कता बढ़ाई गई है। किसान नेताओं और संगठनों के पदाधिकारियों से वार्ता की जा रही है। कहीं कानून व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न न होने पाए, इसके लिए पुख्ता तैयारी की गई है। जिलों में 44 कंपनी पीएसी और 4 कंपनी अर्ध सैनिक बलों की

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.