Connect with us

Bhiwani

कितलाना आत्महत्या मामला! जांच के लिए 11सद्स्य कमेटी बनी। मांगे मानी जाएगी लेकिन वहीं जो होगी जायज

सत्यखबर, भिवानी (अमन शर्मा) – जिले के गांव कितलाना में एक युवती के साथ हुए दुष्कर्म व बाद में गत दिवस न्याय ना मिलने से क्षुब्द युवती द्वारा आत्महत्या किए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। दो दिन से युवती के परिजन व कई समाजिक संगठनो ने भिवानी के चौधरी बंसीलाल अस्पताल में […]

Published

on

सत्यखबर, भिवानी (अमन शर्मा) – जिले के गांव कितलाना में एक युवती के साथ हुए दुष्कर्म व बाद में गत दिवस न्याय ना मिलने से क्षुब्द युवती द्वारा आत्महत्या किए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। दो दिन से युवती के परिजन व कई समाजिक संगठनो ने भिवानी के चौधरी बंसीलाल अस्पताल में धरना दिया हुआ था। उनकी मांग थी कि दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएं व मामले में ढिलाई बरतने वाले डीएसपी के खिलाफ भी कार्यवाही की जाएं। इस पर पुलिस प्रशासन व उपायुक्त ने देर शाम भारी पुलिस बल की मौजूदगी में बैठक की। पीडि़त परिवार की ओर से 11 सदस्य कमेटी बनाई गई थी। जिन्होंने प्रशासन के साथ बैठक करके मामले को सुलझाया तथा नए तरीके से एफआईआर दर्ज करने का आश्वासन भी दिया। वहीं प्रशासन ने कहा कि पीडित परिवार के एक सदस्य को डीसी रेट पर सरकारी नौकरी भी दी जाएंगी।

भिवानी के गांव कितलाना में 16 अगस्त की रात को एक युवती का अपहरण कर तीन युवको ने दुष्कर्म कर दिया था। इस घटना के बाद पीडित परिवार व अन्य ने 17 अगस्त को थाना सदर पुलिस में मामला दर्ज करवाया था। मामले की जांच डीएसपी विरेन्द्र द्वारा की जा रही थी। मामले में किसी की भी गिरफ्तारी ना किए जाने से क्षुब्द पीडिता ने गत दिवस अपने घर में ही फंदा लगाकर आत्म हत्या कर ली साथ ही एक सुसाईड नोट भी परिजनो व पुलिस को बरामद हुआ था।

मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी व मामले में ढिलाई बरतने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर परिजनो व कई समाजिक संगठनो ने कल से ही सामान्य अस्पताल में धरना देना शुरु कर दिया था। वही मामले बारे जांच करने के लिए स्पेशल तौर पर आईपीएस अधिकारी नरेन्द्र बिजानियां को लगाया गया था। पुलिस की ओर इस मामले की जांच डीएसपी रेक के अन्य अधिकारी को सौंपी जाएंगी।

वही आज देर शाम भारी पुलिस बल को सामान्य अस्पताल में तैनात कर दिया गया। भारी पुलिस बल की मौजूदगी में डीसी अंशज सिंह व एसपी गंगाराम पूनिया ने पीडित परिवार से बातचीत की तथा धरना उठाने की बात कहीं।

कमेटी सदस्य कामरेड ओमप्रकाश ने कहा कि पीडित परिवार को न्याय मिले इसके लिए कई संगठन धरने पर बैठे थे तथा उन्होंने कहा कि प्रशासन से मांग रखी गई थी कि मामले की जांच हो तथा एसएसटी के तहत मामला दर्ज जिसमें प्रशासन ने नई प्रकार से एफआईआर दर्ज करने की बात कहीं है। साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी व ढिलाई बरतने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही हो यह मांग रखी गई। मामले की जाचं आईपीएस अधिकारी नरेन्द्र बिजानियां करेगें।

वहीं एसपी गंगाराम पूनियां ने कहा कि मामले बारे पुलिस प्रशासन गंभीर है तथा किसी भी सूरत में ढिलाई नही होगी। उन्होंने कहा कि हर पहलू पर पुलिस नजर बनाए हुए है तथा उन्होंने कहा कि नियमानुसार सभी कार्यवाही होगी। उन्होंने बताया कि नई एफआईआर दर्ज होगी तथा डीएसपी विरेन्द्र के खिलाफ या फिर जिस भी पुलिस कर्मी ने ढिलाई बरती है उनके खिलाफ आईपीएस अधिकारी को उच्च अधिकारियों ने भेजा है जिनकी जांच होगी।

एसपी व डीसी के आश्वसन के बाद धरना उठाया गया। अब देखने वाली बात यह है कि पुलिस प्रशासन इस मामले को कितना जल्दी निपटाता हे तथा कितना जल्दी पीडित परिवार को न्याय दिलवाता है।

5 Comments

5 Comments

  1. Pingback: fake womens watches

  2. Pingback: ท่า sex แนบชิด “Coital Alignment Technique (CAT)

  3. Pingback: como espiar whatsapp

  4. Pingback: cvv shop

  5. Pingback: cvv shop high balance

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *