Connect with us

NATIONAL

उम्र 16 साल कारनामे हैरान करने वाले, जानिए कैसे

Published

on

16year Agastya become 1 boy in India done PG

16year Agastya become 1 boy in India done PG

सत्य खबर , नई दिल्ली। जब आप 16 साल के थे, तब आप क्या कर रहे थे. जाहिर है या तो आप 10वीं में होंगे या ज्यादा से ज्यादा 12वीं क्लास में होंगे. लेकिन हैदराबाद के रहने वाले अगस्त्य जायसवाल शायद किसी और ही ग्रह से आए हैं. दरअसल, अगस्त्य जायसवाल ने महज 16 साल की उम्र में वो कारनाम कर दिखाया है, जिसे लोग इतनी कम उम्र में शायद ही कर पाएं. अगस्त्य भारत के पहले ऐसे लड़के बन गए हैं, जिन्होंने महज 16 साल की उम्र में पोस्ट-ग्रेजुएशन कर लिया है. उन्होंने उस्मानिया यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल की है.

सिर्फ इतना ही नहीं, जब रिजल्ट का ऐलान किया गया, तो इस बात की जानकारी मिली कि अगस्त्य ने सिर्फ मास्टर डिग्री ही हासिल नहीं की है, बल्कि उन्होंने अपने फाइनल ईयर एग्जाम को फर्स्ट डिवीजन से पास किया है. इस तरह अगस्त्य जायसवाल ने एक साथ दो-दो कारनामा किया. उनकी इस उपलब्धि से उनका पूरा परिवार खासा खुश है. परिवार को खुश भी होना चाहिए, क्योंकि इसकी वजह भी बेहद खास है. देश में अभी तक इस कारनामे को कोई भी नहीं कर पाया, जो अगस्त्य ने करके दिखाया है.16year Agastya become 1 boy in India done PG

Also check these links:

सुखविंदर सिंह सुक्खू होंगे हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री, सोशल मीडिया पर भी दिए संकेत- अब केवल औपचारिक ऐलान बाकी

इस प्रसिद्ध टीवी एक्टर की उसके बेटे ने ही कर दी हत्या,जानिए क्यों

कुलदीप बिश्नोई ,भव्य बिश्नोई और रेणुका बिश्नोई को हरियाणा की राज्य कार्यकारिणी में सदस्य नियुक्त किया

रोहतक में पिता का हालचाल पूछने आई पत्नी को पुलिस के SPO पति ने पीटा

लिव-इन में रहने वाली लड़की को नहीं भरण पोषण का अधिकार

14 साल की उम्र में की ग्रेजुएशन
हालांकि, अगस्त्य द्वारा हासिल की गई कई उपलब्धियों में से ये सिर्फ एक उपलब्धि है. उन्होंने कई सारी ऐसी चीजों को किया है, जो पहली बार हुईं. उदाहरण के लिए 2020 में अगस्त्य ने महज 14 साल की उम्र में ग्रेजुएशन पूरा किया. इतनी कम उम्र में ऐसा करने वाले वह पहले भारतीय थे. अगस्त्य ने मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म में बीए की डिग्री हासिल की. इससे पहले, वह 9 साल की उम्र में एसएससी बोर्ड परीक्षा पास करने तेलंगाना के सबसे कम उम्र के छात्र बन गए.

माता-पिता को बताया टीचर
अपनी इन उपलब्धियों को लेकर अगस्त्य ने कहा, ‘मेरे माता-पिता मेरे टीचर्स हैं. मेरे पिता अश्विनी कुमार जायसवाल और मेरी मां भाग्यलक्ष्मी जायसवाल के सपोर्ट और ट्रेनिंग के साथ मैं यह साबित कर रहा हूं कि कुछ भी असंभव नहीं है.’16year Agastya become 1 boy in India done PG

दोनों हाथों से टाइप कर सकते हैं अगस्त्य
अगस्त्य जायसवाल शुरू से ही विलक्षण प्रतिभा के धनी बच्चे रहे हैं. वह केवल 1.72 सेकंड में A से Z तक अक्षर को टाइप कर सकते हैं. सिर्फ इतना ही नहीं वह दोनों हाथों से लिख सकते हैं. इसके अलावा, वह नेशनल लेवल के टेबल टेनिस खिलाड़ी और इंटरनेशनल मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं. अगस्त्य एक अंतरराष्ट्रीय टेबल टेनिस खिलाड़ी और सबसे कम उम्र की रिसर्च स्कॉलर नैना जायसवाल के छोटे भाई हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *