Connect with us

Haryana

सरेआम उड़ाई जा रही आचार संहिता की धज्जियां, बिना परमिशन के हो रही विशाल जनसभाएं

Published

on

code of conduct being break openly

 code of conduct being break openly

सत्यखबर, कैथल, विपिन शर्मा।

जैसे-जैसे मतदान का समय नजदीक आ रहा है,, वैसे ही सभी उम्मीदवार अपने प्रचार प्रसार में जोरों से जुट गए हैं,, इस बीच काफी उम्मीदवार आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं,, जिसका जीता जागता उदाहरण कैथल से सामने आया.. जिला परिषद चुनाव में कैथल जिले की सबसे हॉट सीट कहे जाने वाली वार्ड नंबर 12 में जमकर आदर्श आचार संहिता की उल्लंघना हो रही है..

वार्ड नंबर 12 की अगर बात की जाए तो दो उम्मीदवारों के बीच कांटे की टक्कर बताई जा रही है,, जिस बीच दोनों उम्मीदवार एक दूसरे को को हराने के लिए एड़ी से चोटी तक का जोर लगाए हुए हैं.. चुनाव प्रचार में आचार संहिता की उलंघन का आलम यह है कि सभी उम्मीदवार बिना किसी अनुमति के धड़ल्ले से सैकड़ों गाड़ियों के साथ रोड शो और जनसभाएं कर रहे हैं..इसके साथ ही बिना अनुमति के गांव की तमाम गलियां चौक चौराहे को भी होर्डिंग और बैनरओं से ढका हुआ है.. code of conduct being break openly

पूरी खबर का वीडियों देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक को क्लिक करें:

https://fb.watch/gp_DUXBHcd/

इस संबंध में जब कैथल के एसडीएम एवं रिटर्निंग अधिकारी संजय कुमार से बात की तो उन्होंने बताया कि चुनाव में खड़े सभी उम्मीदवारों को आदर्श आचार संहिता का पालन करना होता है यदि कोई उम्मीदवार इसका पालन नहीं करता तो आयोग के नियम अनुसार उसके खिलाफ आर्थिक दंड भी लगाया जा सकता है और उसके साथ ही उसका नामांकन को भी रद्द कर सकते हैं.. रिटर्निंग अधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा भी फील्ड में मॉनिटरिंग करवाकर उम्मीदवारों पर नजर रखी जा रही है।

Also check these news links:

दिल्ली जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बस और ट्रक में भयंकर टक्कर एक की मौत

हरियाणा : लड़की ने लड़के के मुंह पर डाला तेजाब, जानिए क्यों

585 करोड़ से 161 एकड़ में बनी रेल कोच मरम्मत फैक्टरी को किया लोकार्पित, शुरूआत में 1200 युवाओं को मिलेगा रोजगार

गैंगस्टर प्रदीप कासनी को पुलिस कस्टडी में मारने की योजना, पुलिस ने नाकाम की साजिश

जीरा है पाचन तंत्र में रामबाण, जानिए कैसे

जिले में आदर्श आचार संहिता की पालना करवाने के लिए जिला प्रशासन शायद कुंभकरण की नींद सोया हुआ है.. क्योंकि चुनाव की घोषणा होते ही आदर्श आचार संहिता लागू हो जाती है और उसके बाद बिना अनुमति के कोई भी उम्मीदवार अपना चुनावी प्रचार प्रसार नहीं कर सकता जिसकी निगरानी जिला प्रशासन को करनी होती है.. परंतु कैथल में इस तरह की कोई भी गतिविधि जिला प्रशासन की देखने को नहीं मिल रही जिस कारण जिला परिषद के चुनावी मैदान में उतरे उम्मीदवार जमकर आदर्श चुनाव संहिता की धज्जियां उड़ा रहे हैं.. code of conduct being break openly