Connect with us

Haryana

समालखा के विधायक धर्म सिंह छोकर के बेटे की कंपनी माहिरा पर फिर लगे फर्जीवाड़े के आरोप, लाइसेंस रद्द

Published

on

company Mahira again faces allegations of fraud

company Mahira again faces allegations of fraud

सत्य खबर, चंडीगढ़ । समालखा से विधायक धर्म सिंह छोकर के बेटे सिकंदर की भवन निर्माण कंपनी माहिरा एक बार फिर विवादों में है… कंपनी पर फर्जीवाड़े के आरोप लगे हैं… कंपनी के सेक्टर 59 स्थित प्रोजेक्ट के लिए दिए गए लाइसेंस को डिस्ट्रिक्ट टाउन एंड कंट्री प्लानिंग ने रद्द कर दिया है… कंपनी पर बड़े फर्जीवाड़े के तहत लाइसेंस लेने के आरोप लगे हैं… फर्जीवाड़े के आरोप गांव बहरामपुर के नीरज चौधरी और मंजू देवी ने लगाए थे जिन पर सुनवाई करते हुए माहिरा ग्रुप की जार विला प्राइवेट लिमिटेड के लाइसेंस को रद्द किया गया है…company Mahira again faces allegations of fraud

क्या हुआ फर्जीवाड़ा
अब आप यह सोच रहे होंगे कि कंपनी ने ऐसा क्या फर्जीवाड़ा किया जिसकी वजह से लाइसेंस रद्द हुआ है तो आइए आपको पूरा फर्जीवाड़ा समझाते हैं…
माहिरा के इस प्रोजेक्ट को लेकर कई शिकायतें अदालत और उपायुक्त को गई हैं.. जिन में बताया गया है कि कंपनी ने जमीन मालिकों के साथ कई तरह के फर्जीवाड़े की हैं… सबसे पहला फर्जीवाड़ा कंपनी के द्वारा यह किया गया कि जमीन की तक्सीम ही फर्जी दिखाई गई है जिसको लेकर मंजू देवी नामक महिला ने उपायुक्त को शिकायत दी है कि उसकी जमीन को फर्जी तरीके से कंपनी ने खरीद लिया है… इसके बाद जिन लोगों से कंपनी ने जमीन को खरीदा था उन लोगों ने चेक बाउंस के केस अदालत में लगा दिए… कंपनी ने जो चेक जमीन खरीदने के बदले दिए थे उन खातों में पैसे ही नहीं मिले… ऐसे में जमीन के मालिक रोहतास और मेहर सिंह ने अदालत का सहारा लिया…company Mahira again faces allegations of fraud

Also check these news links:

खड़गे ने दिया पूर्व सीएम हुड्डा को जोर का झटका, जानिए कैसे

अभिनेत्री रतन राजपूत ने खोला 4 साल इंडस्ट्री से दूर रहने का राज

भ्रष्टाचार के कारण गौशाला का काम अधर में लटका, क्यों पढ़े ये खास रिपोर्ट

दुनिया के सबसे गंदे आदमी की इतने साल में हुई मौत

मल्लिकार्जुन खड़गे के कांग्रेस अध्यक्ष का पदभार संभालने पर सोनिया गांधी ने कही है बड़ी बात

कंपनी के फर्जीवाड़े यहीं खत्म नहीं हुए इससे आगे कंपनी पर आरोप लगा कि इस प्रोजेक्ट की अनुमति लेते हुए डिस्टिक टाउन एंड कंट्री प्लानिंग को जमीन पर किसी प्रकार के ऋण में होने के फर्जी दस्तावेज पेश किए गए.. जब शिकायत हुई तो पता चला कि कंपनी ने इंडिया बुल से इस जमीन पर करोड़ों रुपए का लोन लिया हुआ है… यही नहीं बताया तो यह भी जा रहा है कि इस जमीन की एक मालकिन जो 19 साल पहले मर चुकी है उसको भी जिंदा दिखाकर रजिस्ट्री करवाई गई है…
जब इतनी सारी शिकायतें डिस्ट्रिक्ट टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग के पास पहुंची तो विभाग ने कंपनी का लाइसेंस रद्द कर दिया…

वैसे मायरा कंपनी के लिए इस प्रकार के आरोप और लाइसेंस रद्द होना कोई नई बात नहीं है इससे पहले भी कई बार कंपनी पर फर्जीवाड़े के आरोप लग चुके हैं… अभी कुछ महीने पहले मई 2022 में माहिरा होम 68 का लाइसेंस भी गलत दस्तावेजों की वजह से रद्द कर दिया गया था….
लेकिन बताया जा रहा है कि विभाग से मिलीभगत करके उस लाइसेंस को सितंबर माह में ही बहाल करवाया गया था… जिसमें खरीदारों के हितों का हवाला देकर प्रोजेक्ट पूरा करने की अनुमति ली गई थी.. लेकिन यहां बड़ी बात यह है कि प्रोजेक्ट की अनुमति मिलते ही एक बार फिर से कंपनी ने उसी रास्ते पर चलते हुए बड़ी धोखाधड़ी कर दी…
गौरतलब है कंपनी के मालिक सिकंदर सिंह के पिता हरियाणा में राजनेता है और समालखा से विधायक हैं… उन पर भी समालखा में इसी प्रकार के कई बार आरोप लगे हैं.. लेकिन विधायक के रसूख और पैसे के दम पर बार-बार इसी प्रकार के प्रोजेक्ट खड़े किए जाते हैं और लोगों के पैसे ठग लिए जाते हैं …अब देखना यह होगा जिस प्रकार से इस प्रोजेक्ट का लाइसेंस रद्द हुआ है क्या आरोपियों पर कोई बड़ी कार्यवाही भी की जाती है या फिर लोगों को ठगने के लिए इन्हें खुला छोड़ दिया जाएगा ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *