Connect with us

NATIONAL

इस बार अयोध्या में दिवाली इतने लाख दियो वाली, पीएम मोदी होंगे शामिल

Published

on

Diwali in Ayodhya with so many lakhs diyas

Diwali in Ayodhya with so many lakhs diyas

सत्य खबर, अयोध्या । भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में रविवार को 17 लाख दीये जलाकर रिकार्ड बनाया जाएगा। छठवें दीपोत्‍सव में बतौर मुख्‍य अतिथि पहुंच रहे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी गुरु वशिष्ठ की भूमिका में भगवान श्रीराम का प्रतीकात्मक राज्याभिषेक भी करेंगे।

प्रधानमंत्री, रविवार शाम करीब पांच बजे भगवान श्री रामलला विराजमान के दर्शन और पूजा करेंगे। इसके बाद श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र स्थल का निरीक्षण करेंगे। शाम को प्रधानमंत्री भगवान श्रीराम का राज्याभिषेक करेंगे। डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के 22 हजार वालेंटियर ने राम की पैड़ी सहित अन्य घाटों पर 17 लाख दीए बिछाने का लक्ष्य पूरा कर लिया है। अयोध्‍या में पीएम मोदी के अयोध्या आगमन को लेकर तैयारियां पूरी हो गईं हैं। पीएम मां सरयू का पूजन- अर्चन भी करेंगे। आठ वेदी से वैदिक ब्राह्मण सरयू का पूजन कराएंगे। इस राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी साथ में रहेंगे। Diwali in Ayodhya with so many lakhs diyas

यूपी के पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने पीएम के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि यहां उनका ढाई घंटे का कार्यक्रम निर्धारित है। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी महर्षि वशिष्ठ की भूमिका में भगवान राम के राज्याभिषेक के लिए उनका प्रथम तिलक करेंगे। कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार सिंह के दिशा-निर्देशन में दीपोत्सव के नोडल अधिकारी प्रो. अजय प्रताप सिंह के नेतृत्व में दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए 37 घाटों पर 200 से अधिक समन्वयक, ग्रुप लीडर और प्रभारी मुस्तैद हैं।

Also check these links:

सीएम खट्टर की अधिकारियों पर सख्ती, जारी किए यह नए आदेश

कांग्रेस में ताबड़तोड़ जॉइनिंग का सिलसिला जारी, पूर्व आईएएस चंद्रप्रकाश ने थामा कांग्रेस का दामन

5G को लेकर हरियाणा सरकार की ये है तैयारी

जन्म दिवस पर विशेष : ऐसा था कादर खान का बचपन का दौर

रविवार को सुबह 10 बजे से विश्वविद्यालय, सम्बद्ध महाविद्यालयों व स्वयंसेवी संस्थाओं के लगभग 22 हजार वालेंटियर्स घाटों पर तैनात रहेंगे। दीए की गणना घाट समन्वयकों की निगरानी में शुरू कराई गई। विश्वविद्यालय के गणना समिति के सदस्यों ने घाटों के दीयों की गणना की। अपराह्न तीन बजे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड टीम के सदस्यों द्वारा कैमरे से हर घाटों के दीयों की गणना प्रारम्भ की गई। नोडल अधिकारी प्रो. सिंह ने बताया कि रविवार को सुबह नौ बजे से वालेंटियर्स द्वारा 37 घाटों पर बिछाए गए दीए में तेल डालने और बाती लगाने का काम करेगा।

पुलिस प्रशासन द्वारा घाटों की निगरानी की जा रही है। घाटों पर दीपोत्सव पहचान-पत्र के बिना प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। घाटों पर अभेद्य सुरक्षा व्यवस्था की गई है। प्रशासन की हर गतिविधि पर नजर है। Diwali in Ayodhya with so many lakhs diyas

जनता के लिए भी लेजर शो

डीएम नितीश कुमार ने बताया कि दीपोत्सव पर लेजर शो का मुख्य आकर्षण होगा। इसका मुख्य शो प्रधानमंत्री की मौजूदगी में होगा। इसके बाद रात नौ बजे से एक बजे तक 25-25 मिनट का शो सभी श्रद्धालुओ के लिए होगा।

अयोध्या में इस बार दीपोत्सव का छठा संस्करण आयोजित किया जा रहा है। वर्ष 2018 में अयोध्या के दीपोत्सव में कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग सूक खास मेहमान बनी थीं। कोरिया की रानी सूरीरत्न (हिव हांग ओक) पुश्तैनी तौर पर अयोध्या से जुड़ी थीं। इसलिए अयोध्या और कोरिया का रिश्ता काफी पुराना है।

प्रथम तिलक वशिष्ठ मुनि कीन्हा, पुनि सब विप्रन्ह आयुष दीन्हा..
श्रीरामचरितमानस के उत्तर कांड में राम राज्याभिषेक का उल्लेख करते हुए गोस्वामी जी ने कहा प्रथम तिलक वशिष्ठ मुनि कीन्हा, पुनि सब विप्रन्ह आयुष दीन्हा.. । पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने बताया कि इस साल दीपोत्सव भव्यतम ढंग से मनाया जाएगा। उन्होंने यह भी साफ किया कि कार्यक्रम में फिलहाल कोई विदेशी मेहमान शामिल नहीं हो रहा और जिन्हें आना है, उनके कार्यक्रम की अंतिम रूप से सहमति राज्य सरकार को नहीं मिली है।

उड़नखटोले से आएंगे राम
कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी पर प्रभु राम भ्राता लक्ष्मण व देवी सीता के साथ 14 वर्षों के वनवास के बाद लौटकर भ्राता भरत-शत्रुघ्न से मिलते हैं। इस दृश्य को सरयू तट पर भरत-मिलाप के रुप में मंचित करने के लिए रामकथा पार्क के निकट अस्थाई हेलीपैड के बगल ही एक मंच बनाया गया है। भरत मिलाप के बाद सीएम योगी श्रीराम और सीता सहित उनके अनुजों का अयोध्या में प्रवेश पर स्वागत कर उनकी अगवानी कर रामकथा पार्क के मंच पर लाएंगे।

पीएम मोदी का ये है कार्यक्रम
4:45 बजे शाम साकेत महाविद्यालय में निर्मित हेलीपैड पर प्रधानमंत्री मोदी का चॉपर उतरेगा। 4:55 बजे रामलला का दर्शन-पूजन करने रामजन्मभूमि पहुंचेंगे।

5:05 शाम पर राम मंदिर निर्माण कार्य का अवलोकन कर पूजन करेंगे।

5:40 बजे रामकथा पार्क में भगवान श्रीराम के राज्याभिषेक समारोह में शामिल होंगे।

6:25 बजे शाम मां सरयू की आरती करने पहुंचेंगे।

6:40 बजे राम की पैड़ी पर आयोजित दीपोत्सव का शुभारम्भ विशेष दीप प्रज्जवलित कर करेंगे। 7:25 बजे सरयू पुल से होने वाली हरित आतिशबाजी का भी आनंद लेंगे।