Connect with us

noida

खूंखार गैंगस्टर टीनू के परिजन क्यों बोलें आत्महत्या करने को, पढ़िए ये खबर

Published

on

dreaded gangster teene

dreaded gangster teene

अपराध जगत के लॉरेंश बिशनोई के खुंखार गैंगस्टर टीनू हरियाणा के परिजन ख़ाकी से काफ़ी ख़ौफ़ज़दा हैं। हालांकि पंजाब पुलिस की कस्टडी से फ़रार टीनू दोबारा गिरफ़्तार हो चुका है पर भिवानी में रह रहे टीनू के परिजनों का आरोप है कि पुलिस उन्हें बार बार टीनू के नाम पर टॉर्चर कर रही है। वहीं पुलिस ने टीनू के परिजनों के सभी आरोपों को ग़लत, बेबुनियाद और निराधार बताए हैं।

बता दें कि पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में लॉरेंश बिशनोई गैंग का ख़ौफ़ रहा है। भिवानी निवासी टीनू हरियाणा, लॉरेंश बिशनोई का ख़ास है और कुख्यात गैंगस्टर है। टीनू पर हरियाणा समेत आसपास के राज्यों में हत्या, लूट, डकैती, हत्या के प्रयास जैसे 32 संगीन मामले दर्ज हैं। टीनू का कई राज्यों की पुलिस से आंख मिचौली का खेल चलता रहता है। हालांकि पंजाब पुलिस की कस्टडी से फ़रार होने के बाद दो रोज़ पहले टीनू को पुलिस ने राजस्थान से फिर से क़ाबू कर लिया है….अब टीनू के परिजनों का आरोप है कि भिवानी पुलिस टीनू के कोई भी कांड करने पर उनसे पूछताछ के नाम पर बार बार बेवजह टॉर्चर करती है। दूसरी और पुलिस सभी आरोपों को ग़लत बता रही है, पर टीनू के पिता का कहना है कि वो पुलिस की वजह से शहर छोड़ने पर मजबूर हैं और इस बार टॉर्चर किया तो वो पूरे परिवार समेत आत्महत्या को मजबूर होंगे।dreaded gangster teene

Also check these links:

देश के युवाओं का भविष्य संवारने की बड़ी पहल: सुधीर सिंगला

23 अक्टूबर का राशिफल: इन राशि वालों के होंगे रुके हुए काम पूरे

सीएम खट्टर की अधिकारियों पर सख्ती, जारी किए यह नए आदेश

कांग्रेस में ताबड़तोड़ जॉइनिंग का सिलसिला जारी, पूर्व आईएएस चंद्रप्रकाश ने थामा कांग्रेस का दामन

वहीं टीनू के पिता के वकील भूपेन्द्र ने बताया कि टीनू पुलिस गिरफ़्त में है। पुलिस को कुछ पूछना है तो उससे पुछे। परिवार को पूछताछ के नाम पर टॉर्चर करना और गंदा व्यवहार करना ग़लत है। उन्होंने कहा कि वो इस बारे में डीसी और एसपी से मिलेंगे और क़ानूनी लड़ाई लड़ेंगे।

दूसरी और डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने टीनू के परिजनों के सभी आरोपों को ग़लत, बेबुनियाद और निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि भिवानी समेत पूरे हरियाणा की पुलिस सुप्रीम कोर्ट के आदेश और निर्देशों की पालना करती है और किसी को टॉर्चर नहीं करती। उन्होंने कहा कि मामला संगीन होने पर पुलिस अपराधी के परिजनों से पूछताछ कर सकती है। पर कभी किसी को टॉर्चर नहीं किया है।dreaded gangster teene

बहरहाल इस मामले में वकील क़ानून का सहारा लेने की दलील दे रहे हैं और पुलिस सभी आरोपों को निराधार बता रही है। पर जो भी हो, गैंगस्टर टीनू के परिजन पुलिस के डर से मारे मारे फिरने को मजबूर हैं…

सत्य खबर के लिए दीपक मुटरेजा की रिपोर्ट