Connect with us

Crime

गैंगस्टर टीनू ने गिरफ्तारी के बाद भी बढ़ाई दिल्ली पुलिस की टेंशन, जानिए कैसे

Published

on

after gangster teenu arrest police in tension 

after gangster teenu arrest police in tension 

सत्य खबर, नई दिल्ली । सिद्धू मूसेवाला की हत्या की साजिश में शामिल हरियाणा के गैंगस्टर दीपक टीनू की AK-47 दिल्ली पुलिस के लिए सिरदर्द बनी हुई है। इस खतरनाक हथियार को तलाशने के लिए दिल्ली पुलिस लगातार राजस्थान और पंजाब पुलिस के संपर्क में है।

अभी तक की जांच में यह खुलासा हुआ है कि टीनू ने AK-47 को पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए मंगाई थी। इससे वह पुलिस पर हमला करने की योजना बना रहा था। टीनू की मंशा थी कि अगर पुलिस पकड़ने आई तो फिर इसी से पुलिस का मुकाबला करेगा। after gangster teenu arrest police in tension 

AK-47 की तलाश में दिल्ली पुलिस दो दिन पहले राजस्थान गई थी। हालांकि उसे वहां से कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई। इसके बाद अब जल्द ही पंजाब और हरियाणा में भी दिल्ली पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारी पहुंच सकते हैं।

सूत्रों के मुताबिक टीनू ने दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल को पूछताछ में बताया है कि गिरफ्तारी से तीन-चार दिन पहले ही उसने AK-47 पाकिस्तान से मंगाई गई थी। ड्रोन के जरिए राइफल को पंजाब के तरनतारन में गिराया गया। जहां से वह टीनू तक पहुंचाई गई। इसके जरिए उसने पुलिस से मुकाबले की पूरी तैयारी कर रखी थी।after gangster teenu arrest police in tension 

Also check these links:

पूजन से पहले ये खबर जरूर पढ़े, जानिए लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त विधि व मंत्र

पंचायत इलेक्शन में उत्तर प्रदेश की ईवीएम वापस, गुजरात से ईवीएम क्यों मंगाई गई?

24 अक्टूबर का राशिफल: इन राशि वालों की दिवाली होगी मंगलमय

पिस्टल की जगह मिली AK-47
सूत्रों के मुताबिक गैंगस्टर दीपक टीनू ने फरारी के बाद अमेरिका में बैठे जैक से संपर्क किया। उसने जैक से हाईटैक पिस्टल मंगाई थी। जैक के पास उस वक्त हाइटैक पिस्टल नहीं थी। इस वजह से उसने पाकिस्तान में बैठे अपने साथियों से संपर्क किया। जहां से फिर AK-47 भिजवाई गई। इसमें कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने भी अहम भूमिका निभाई। गोल्डी बराड़ सिद्धू मूसेवाला के कत्ल का मास्टरमाइंड है।

दीपक टीनू ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की साजिश रचने में लॉरेंस का साथ दिया। कुछ दिन पहले मानसा पुलिस उसे किसी केस में प्रोडक्शन वारंट पर जेल से बाहर लाई। वह मानसा पुलिस के CIA स्टाफ के सब इंस्पेक्टर प्रितपाल सिंह को हथियार बरामदगी का झांसा देकर फरार हो गया। 18 दिन बाद उसे दिल्ली पुलिस ने राजस्थान के अजमेर से गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद उससे पूछताछ में कई तरह के खुलासे हो रहे हैं।

मूसेवाला के कत्ल में यूज हुई थी AK47
पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के कत्ल में भी AK47 का इस्तेमाल हुआ था। गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के शार्पशूटर मनप्रीत मन्नू ने इससे गोलियां चलाई थी। बाद में जब पुलिस ने मन्नू और दूसरे शूटर जगरूप रूपा को अटारी में घेर लिया तो उन्होंने AK47 से ही पुलिस पर गोलियां चलाई थी। एनकाउंटर में मारे जाने के बाद पंजाब पुलिस ने इसे बरामद कर लिया था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *