Connect with us

Crime

दीपावली पर निगम अधिकारियों की लापरवाही से सरकारी राजस्व को लगा लाखों का चूना, जानिए कैसे

Published

on

Government revenue lost lakhs due to negligence of corporation officials on Diwali

Negligence of corporation officials on Diwali

सत्य खबर ,गुरुग्राम, सतीश भारद्वाज । साइबर सिटी में निगम अधिकारियों व पार्षदों की दबंगी और सांठगांठ के चलते दीपावली पर पूरे नगर निगम क्षेत्र में सरकारी संपत्तियों का जमकर दुरुपयोग हुआ। जिसमें होर्डिंग माफियाओं ने जमकर चांदी कूटी। हर तरफ अवैध होर्डिंग्स कि सार्वजनिक स्थानों पर जाल बिछा रहा। वहीं शिकायतों के बावजूद भी निगम अधिकारी मौन बने रहे।Negligence of corporation officials on Diwali

शहरवासी रणवीर सिंह, अशोक यादव, नरेंद्र कुमार, बलदेव सिंह आदि दर्जनों समाज सेवकों ने जानकारी देते हुए बताया कि निगम क्षेत्र के डीएलएफ, सुशांत लोक, निरवाना, राजेश पायलट रोड, पालम विहार, एमजी रोड सहित शहर के अन्य क्षेत्रों में सड़क के किनारे लगे बिजली के खंभों, सरकारी स्मारकों, ट्रैफिक के दिशा निदेशों पर अवैध रूप से होर्डिंग्स माफियाओं ने निगम अधिकारियों तथा विज्ञापन समिति के चेयरमैन रविंद्र यादव की मिलीभगत से अवैध होर्डिंग्स, पोस्टर, बैनर लगाए हुए है

Also check these links:

भ्रष्टाचार के कारण गौशाला का काम अधर में लटका, क्यों पढ़े ये खास रिपोर्ट

दुनिया के सबसे गंदे आदमी की इतने साल में हुई मौत

मल्लिकार्जुन खड़गे के कांग्रेस अध्यक्ष का पदभार संभालने पर सोनिया गांधी ने कही है बड़ी बात

महिला चीनी जासूस गिरफ्तार, इस राज्य से हुई गिरफ्तारी

जिससे साइबर सिटी बदरंग नजर आ रही है। वहीं प्रदेश सरकार को भी 2 दिन में कई लाखों का चूना लग चुका है। वहीं वाहन चालकों को भी सड़क पर लगे दिशा निदेशों पर लगे अवैध बैनरस के कारण परेशानियों का‌ सामना करना पड़ रहा है। जिस पर पुलिस विभाग भी कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। जिसकी शिकायत समाज सेवकों ने कई बार उच्च अधिकारियों को की है लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। वहीं निगम द्वारा लगाए गए वैध होर्डिंग स्थानों पर भी छूटभैया नेताओं ने कब्जा कर बिना कोई सरकारी फीस जमा कराए अपने होर्डिंग्स लगा रखे हैं। जिसके बारे में कई आरटीआई भी निगम दफ्तर में लग चुकी है जिसका कोई जवाब भी निगम अधिकारियों ने अब तक नहीं दिया है। गौरतलब है कि होर्डिंग्स का मामला जहां सदन की बैठक में भी कई बार उठ चुका है वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री के कानों तक भी आवाज पहुंच चुकी है। उसके लिए उन्होंने निगम कमिश्नर से भी बकाया राशि की जानकारी मांगी थी। वहीं बताया गया हैNegligence of corporation officials on Diwali

निगम का कंपनियों पर करीब 400 करोड़ रुपया बकाया है। दीपावली पर लगे अवैध होर्डिंग्स की करीब 50 फोटो समाज सेवकों के पास है जिसके बारे में आरटीआई से पूछा जाएगा कि वैध थे या अवैध थे। इस बारे में एक दफा निगम के एडिशनल कमिश्नर अमरजीत सिंह ने बताया था कि नीचे के अधिकारियों को अवैध होर्डिंग्स हटाने के आदेश दिए हुए हैं। अगर किसी अधिकारी की लापरवाही सामने आई तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जब इस बारे में अधिक जानकारी लेने के लिए निगम कमिश्नर मुकेश कुमार अहूजा से फोन पर बात करनी चाही तो उन्होंने फोन ही नहीं उठाया जिससे उनका पक्ष नहीं लिखा जा सका। जबकि निगम कमिश्नर ने अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश दिए हुए हैं कि शहर में अवैध होर्डिंग, पोस्टर, बैनर वालों के खिलाफ सख्त कारवाही की जाए।