Connect with us

Chandigarh

पानीपत में शराब ठेकेदार ड्राइवर के नाम पर चला रहा था करोड़ों का कारोबार अब हुआ यह एक्शन

Published

on

110 crore business in the name of driver Panipat

110 crore business in the name of driver Panipat

सत्यखबर, चंडीगढ़। हरियाणा के ग्रह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के समक्ष आज एक बड़ा मामला सामने आया जिसके तहत पानीपत में शराब ठेकेदार द्वारा ड्राइवर के नाम से 110 करोड़ रुपए का शराब का कारोबार किया जा रहा था और करिंदे को अवैध शराब के मामले में ही फंसा दिया गया। गृह मंत्री अनिल विज के समक्ष शनिवार यह मामला आया तो उन्होंने इस मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए प्रर्वतन निदेशालय, डीजीपी हरियाणा, इंकम टैक्स और आबकारी-कराधान विभाग के अधिकारियों को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इतना ही नहीं ड्राइवर को अम्बाला में ही गृह मंत्री अनिल विज के निर्देशों पर पुलिस सुरक्षा प्रदान की गई और पानीपत से आई पुलिस टीम उसे सुरक्षा के बीच देर शाम पानीपत लेकर लौटी।

दरअसल, शनिवार हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज शनिवार पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पहुंचे थे। हालांकि शनिवार उन्होंने जनता दरबार नहीं लगाया था, मगर इसके बावजूद सैकड़ों लोग शनिवार रेस्ट हाउस में अपनी शिकायत लेकर पहुंचे थे, शिकायतकर्ताओं की कतारें देख मंत्री विज ने लोगों की समस्याओं को सुनना शुरू किया। इसी बीच पानीपत के गांव जोसी निवासी युवक ने गृह मंत्री अनिल विज को शिकायत देते हुए आरोप लगाए कि वह पानीपत में शराब ठेकेदार के पास 15 हजार रुपया महीने की तनख्वाह पर काम करता था और शराब ठेकेदार ने उसके नाम से ही 110 करोड़ का कारोबार किया हुआ था। उसे इस बात की जानकारी तब मिली जब उसका नाम अवैध शराब के मामले में सामने आया। उसका आरोप था कि पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया और बाद में जेल में बंद भी कर दिया। उसने अपनी बेगुनाही का सबूत दिया, मगर उसकी एक नहीं सुनी गई। उसका आरोप था कि पानीपत में बड़ा माफिया सक्रिय है जोकि अब उसके पीछे पड़ा है और उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई भी नहीं की जा रही है।110 crore business in the name of driver Panipat

मंत्री विज के निर्देशों पर सुरक्षा के बीच अम्बाला से पानीपत ले जाया गया शिकायतकर्ता को

गृह मंत्री अनिल विज ने इस मामले पर तुरंत संज्ञान लेते हुए प्रर्वतन निदेशालय अधिकारियों के अलावा डीजीपी हरियाणा और आबकारी-कराधान विभाग के एसीएस को मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह मामला काफी गंभीर है और उन्होंने मौके पर ही एसपी पानीपत को फोन कर मामला दर्ज करने के निर्देश देते हुए शिकायतकर्ता को पुलिस सुरक्षा प्रदान करने के निर्देश भी दिए। अम्बाला में पानीपत से एक पुलिस टीम बुलाई गई जिसकी सुरक्षा में शिकायतकर्ता को पानीपत देर शाम वापस ले जाया गया।

Also check these news links: 

बेटी की सुरक्षा को लेकर ब्रिटेन के पीएम सुनक ने कही यह बड़ी बात

गुरुग्राम में प्रॉपर्टी डीलर से धमकी देकर 50 लाख की मांग करने वाले पकड़े

हरियाणा:बाप के मर्डर के गवाह बेटे की गोली मारकर हत्या, ग्रामीणों ने दी पुलिस को यह चेतावनी

अब बिना टेस्ट के भी बन सकता है डीएल,जानिए कैसे

वहीं, पत्रकारों से इस संबंध में बातचीत करते हुए गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि आज जनता दरबार नहीं था, मगर रेस्ट हाउस में काफी लोग आए हुए थे और पानीपत से एक व्यक्ति ने शिकायत देते हुए बताया कि उसे 15 हजार रुपए महीने तनख्वाह पर ड्राइवर रखा और उसके हस्ताक्षर करके 110 करोड़ रुपए का शराब का कारोबार पानीपत में चला रहे थे। इस मामले को लेकर डीजीपी, प्रर्वतन निदेशालय, आबकारी-कराधान विभाग व इंकम टैक्स कमिश्नर से बात की है। मामले में एसपी पानीपत को तुरंत एफआईआर दर्ज कर सुरक्षा प्रदान करने के निर्देश दिए है। शराब माफिया के खिलाफ यह काफी बड़ा खुलासा है और अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। शिकायतकर्ता के साथ कोई अनहोनी न हो उसे अम्बाला से ही सुरक्षा प्रदान कर पानीपत ले जाया जाएगा।

फौजियों के साथ नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी : गृह मंत्री अनिल विज

रोहतक से आए फौजी ने गृह मंत्री अनिल विज को शिकायत देते हुए बताया कि जमीनी विवाद में हत्या मामले की गवाही चल रही है, मगर आरोपी पक्ष मारपीट व गाली-ग्लोच कर उनपर दबाव बना रहा है। इस मामले में फौजी की सुनवाई करते हुए गृह मंत्री अनिल विज ने तुरंत एसपी रोहतक को फोन कर मामले में एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए और शिकायतकर्ता को पुलिस सुरक्षा प्रदान करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि फौजियों के साथ ना इंसाफी नहीं होने दी जाएगी।

इसी तरह, सोनीपत में धोखाधड़ी मामले की जांच के गृह मंत्री अनिल विज ने सोनीपत एसपी को मामले में एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए। वहीं, कुरुक्षेत्र में विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने के मामले में भी गृह मंत्री अनिल विज ने एसपी कुरुक्षेत्र को एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।110 crore business in the name of driver Panipat

इन शिकायतों पर भी कार्रवाई के निर्देश दिए मंत्री विज ने

गृह मंत्री अनिल विज के समक्ष करनाल निवासी व्यक्ति ने चोरी मामले में कार्रवाई की मांग की जिस पर एसपी करनाल को कार्रवाई के निर्देश दिए गए। इसी तरह फरीदाबाद से आए व्यक्ति ने 92 लाख जमीनी धोखाधड़ी मामले की शिकायत की, कैथल निवासी देवेंद्र ने उसको मतदान नहीं करने देने की शिकायत की, करनाल निवासी व्यक्ति ने हनी ट्रैप में उसे फंसाकर ब्लैक मेल करने, सोनीपत निवासी महिला ने प्लाट पर जबरन कब्जा करने, अम्बाला शहर निवासी व्यक्ति ने जमीनी धोखाधड़ी करने, रेवाड़ी निवासी व्यक्ति ने जमीनी धोखाधड़ी करने, कुरुक्षेत्र निवासी व्यक्ति ने उसपी हमला करने, कैथल निवासी व्यक्ति ने आरोपियों पर उसके घर में घुसकर हमला करने, पलवल निवासी बुजुर्ग ने मारपीट मामले में कार्रवाई नहीं होने, नूंह से व्यक्ति ने मारपीट मामले में कार्रवाई नहीं होने एवं अन्य शिकायतें आई जिन पर गृह मंत्री अनिल विज ने संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए।

जेल में आम आदमी पार्टी नेता की मसाज मामले में मंत्री विज ने कहा ‘’आम आदमी पार्टी का कल्चर धीरे-धीरे उजागर हो रहा है’’

जनसमस्याएं सुनते समय पत्रकारों से बातचीत के दौरान गृह मंत्री अनिल विज ने आम आदमी पार्टी के नेता की जेल में मसाज कराने के मामले में कहा कि ‘आम आदमी पार्टी का जो कल्चर है वह धीरे-धीरे उजागर हो रहा है’। उन्होंने कहा कि किस तरह के भाषण देकर व लोगों को गुमराह करके वह सत्ता में आए थे। यह खुद अब अपना चेहरा दिखा रहे हैं। श्री विज ने कहा कि जेल प्रशासन के लोगों को आम आदमी पार्टी ने इम्प्रेस किया होगा तभी अंदर मालिश हो रही होगी।

कांग्रेस अब एक-दो प्रदेशों में सिमट कर रह गई- विज

कांग्रेस के भाजपा पर डर और घृणा फैलाने के आरोपों पर पलटवार करते हुए गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि भाजपा तो सारों के सुख के लिए काम करता है, सबका साथ सबका विकास हमारा नारा है। कांग्रेस को कहां से नफरत नजर आ रही है यह समझ नहीं आता। कांग्रेस के अपने लोग अब कांग्रेस को छोड़ते जा रहे हैं। कांग्रेस अब एक-दो प्रदेशों में सिमट कर रह गई है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *