Connect with us

Haryana

फिर हुई हरियाणा और पंजाब के किसानों की महापंचायत, जानिए किसलिए

Published

on

Panchayat of United Kisan Morcha held in 
sonipat
सत्य खबर , सोनीपत। सोनीपत की राजीव गांधी एजुकेशन सिटी
 परिसर में रविवार को गैर राजनीतिक संयुक्त किसान मोर्चा की 
पंचायत हुई। इसमें पंजाब और हरियाणा के किसान पहुंचे। 
यहां किसान आंदोलन के दौरान अपनी जाने गंवाने वाले सभी 
किसानों को श्रद्धांजलि दी दी। वहीं, किसानों के ऊपर दर्ज किए 
गए केसों को वापस लेने और एमएसपी गारंटी कानून बनाने की 
मांग की गई।Panchayat of United Kisan Morcha held in sonipat

रविवार को सोनीपत के कुंडली सिंघु बॉर्डर पर 1 साल पहले किसान आंदोलन समाप्त होने के बाद एक बार फिर से किसान राजीव गांधी एजुकेशन सिटी में यहां एकत्रित हुए। इस दौरान किसानों ने कहा है कि सरकार जुमलेबाजी करती है। जो वादे किए जाते हैं उनको पूरा नहीं करती है, लेकिन किसान हार मानने वाले नहीं हैं।

Also check these links:

इस सांसद ने कर डाली सीएम खट्टर के सामने पीएम मोदी से ब्राह्मण सीएम बनाने की मांग

हरियाणा: पानी को लेकर भाई बना भाई की जान का दुश्मन, जानिए क्या है मामला

जानिए कब तक और कितनी लागत से तैयार होगा देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे, यह होगी खासियत

देवेंद्र बबली और सरपंचों में हुई तीखी नोकझोंक, पढ़िए की किस बात को लेकर हुआ ये तीखी बहस

उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी में जो किसान मारे गए थे उनको भी अभी तक न्याय नहीं मिल रहा है। किसान नेताओं ने कहा कि सरकार वादाखिलाफी कर रही है। उन्होंने आंदोलन में मृत किसानों के परिवारों को मुआवजा देने की मांग की है।

ट्रैक्टरों और बसों में पहुंचे किसान
पंचायत में हजारों की संख्या में किसान मौजूद रहे। पंजाब से ट्रैक्टर, गाड़ी और बसों से किसान पहुंचे। राई में स्थित राजीव गांधी एजुकेशन सिटी के मेन गेट पर पंडाल बनाया गया है। यहां पर शहीद किसान अमर रहे के होर्डिंग भी लगाए गए।Panchayat of United Kisan Morcha held in sonipat