Connect with us

Haryana

कांग्रेस में ताबड़तोड़ जॉइनिंग का सिलसिला जारी, पूर्व आईएएस चंद्रप्रकाश ने थामा कांग्रेस का दामन

Published

on

process of joining the Congress continues

process of joining the Congress continues

सत्यखबर हिसार। आदमपुर उपचुनाव में दलितों के बाद कांग्रेस को पिछड़ा वर्ग का जबरदस्त समर्थन मिलता नजर आ रहा है। आज एकबार फिर कांग्रेस में बंपर जॉइनिंग हुईं। खासकर पिछड़ा वर्ग के दर्जनों नेताओं ने आज कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। पूर्व सांसद रामजी लाल के भतीजे और आईएएस अधिकारी रहे चंद्र प्रकाश ने रिटायरमेंट के बाद कांग्रेस का दामन थामा।

पार्टी ज्वाइन करने के बाद पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए चंद्र प्रकाश ने कहा कि मुख्यमंत्री के तौर पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने नौकरी और शिक्षा में पिछड़ा वर्ग को उनका हक देने के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिये। हुड्डा सरकार आने से पहले हरियाणा में गजटेड पदों पर पिछड़ा वर्ग का आरक्षण सिर्फ 10 प्रतिशत था। लेकिन उनकी सरकार ने इसे बढ़ाकर 15 प्रतिशत करने का ऐतिहासिक फैसला लिया। इसमें 72 जातियों वाले बीसी-ए वर्ग को 10 प्रतिशत और बीसी-बी वर्ग को 5 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिला। process of joining the Congress continues

इसी तरह हुड्डा सरकार के दौरान लगभग 4 लाख परिवारों को सौ-सौ गज के प्लॉट मिले, जिनमें से करीब 65 हजार पिछड़ा वर्ग के परिवारों थे। स्कूली बच्चों को देश में सबसे ज्यादा वजीफा भी उन्हीं की सरकार के दौरान दिया गया, जिसमें पिछड़ा वर्ग के बच्चों की भारी संख्या शामिल थी। उनकी सरकार ने ओबीसी समाज के लिए कर्जमाफी की योजना लागू करके उन्हें करोड़ों का लाभ पहुंचाया।

चंद्र प्रकाश के अलावा आदमपुर हलके बीजेपी, जेजेपी छोड़कर व अलग-अलग सामाजिक संगठनों के दर्जनों नेताओं ने भी पार्टी ज्वाइन की। सभी लोगों ने पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रदेश अध्यक्ष चौधरी उदयभान के नेतृत्व में आस्था जताते हुए कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। हुड्डा और उदयभान ने सभी नेताओं का पार्टी में स्वागत किया और उन्हें पूरे मान-सम्मान का भरोसा दिलाया। कांग्रेस की श्रमिक शाखा इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (इंटक) की सभा में यह जॉइनिंग करवाई गई।

बंपर ज्वाइनिंग से उत्साहित भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने इस मौके पर कहा कि इंटक कांग्रेस और समाज की रीढ़ है। क्योंकि यह मजदूर, किसान और छोटे व्यापारी की लड़ाई लड़ने वाला संगठन है। यही वो वर्ग है जो देश को चला रहा है। आज दिहाड़ीदार से लेकर मनरेगा मजदूर और मनरेगा मेट तक तमाम लोग उनके श्रम का मेहनताना नहीं मिलने से परेशान हैं। इसलिए मनरेगा को शुरू करने वाली कांग्रेस इनके अधिकारों को लेकर संजीदा है। process of joining the Congress continues

हुड्डा ने ऐलान किया कि कांग्रेस सरकार बनने पर तमाम मनरेगा मेट को पक्का किया जाएगा और मनरेगा मजदूरी को बढ़ाकर मार्केट रेट के सामान किया जाएगा। साथ ही कांग्रेस सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि मनरेगा मजदूरों को लगातार काम और मेहनताना मिलता रहे।

Also check these links:

5G को लेकर हरियाणा सरकार की ये है तैयारी

जन्म दिवस पर विशेष : ऐसा था कादर खान का बचपन का दौर

चीन में पार्टी के अधिवेशन से जबरदस्ती बाहर निकाले गए पूर्व राष्ट्रपति, जानिए क्यों

हिमाचल में बीजेपी नेता बने बीजेपी के लिए मुसीबत, जानिए कैसे

हेट स्पीच पर सुप्रीम कोर्ट का कड़ा रुख, जानिए क्या कहा

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आज हरियाणा में गरीब, मजदूर, दलित और पिछड़ा विरोधी विचारधारा वाली सरकार चल रही है। इस सरकार ने कांग्रेस द्वारा चलाई गई वंचित तबकों को लाभ देने वाली तमाम योजनाओं को बंद करने का काम किया। इस सरकार ने हमेशा कमजोर वर्ग के आरक्षण पर कैंची चलाने के फैसले लिए हैं। इसलिए वह इंटेक के सभी सदस्यों से आह्वान करते हैं कि वह आदमपुर में घर-घर जाकर बीजेपी की नीतियों का खुलासा करें और कांग्रेस उम्मीदवार जयप्रकाश की जीत में अपनी भूमिका अदा करें। जयप्रकाश विधानसभा में जाएंगे तो पुरजोर तरीके से मजदूर वर्ग की मांगों को उठाने का काम करेंगे।

सभा में खुद जयप्रकाश ने भी इंटक सदस्यों को यह भरोसा दिलाया और उनसे आदमपुर के चुनाव में जी जान से जुटने का आह्वान किया।

इस मौके पर चौधरी उदयभान ने याद दिलाया कि नोटबंदी से लेकर श्रम कानूनों में बदलाव तक बीजेपी सरकार का हर फैसला गरीब और मजदूर विरोधी रहा है। इस सरकार ने बाबा साहब के संविधान को बदलकर मजदूरों के लिए 8 घंटे मजदूरी की समयसीमा को बढ़ाकर 12 घंटे करने का काम किया। आज तमाम श्रम कानूनों को पूंजीपतियों के हिसाब से बदला जा रहा है।

इतना ही नहीं खट्टर सरकार ने तो 4 लाख 90 हजार गरीब और बेसहारा बुजुर्गों व 35 हजार विधवाओं की पेंशन काटने का संवेदनहीन फैसला लिया। इसी सरकार ने हुड्डा सरकार द्वारा चलाई गई 100 गज के प्लाट आवंटन की योजना को भी बंद किया। इसी तरह मौजूदा सरकार ने एससी कमिशन, केश कला बोर्ड औऱ माटी कला बोर्ड को भी खत्म किया। ताकि पिछड़ों को उनके अधिकारों से वंचित किया जा सके।

खट्टर सरकार ने पिछड़े वर्ग के आरक्षण पर कैंची चलाने के लिए क्रीमी लेयर की सीमा को 8 से घटाकर 6 लाख किया। इसीलिए भविष्य में कांग्रेस सरकार बनने पर गरीब, दलित, पिछड़ा और मजदूर विरोधी फैसलों को बदला जाएगा। क्रीमी लेयर की सीमा को बढ़ाकर 10 लाख किया जाएगा। इसके लिए जरूरी है कि तमाम जाति, वर्ग, धर्म व समुदाय के लोग एकजुट होकर इस सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करें।

इस मौके पर इंटक नेताओं ने कहा कि वह लगातार पिछले 8 साल से मजदूर और कर्मचारियों के हकों की लड़ाई लड़ रहे हैं। बीजेपी सरकार कभी भी इन वर्गों का भला नहीं कर सकती। इसलिए इस सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए इंटर का पूरा संगठन आदमपुर में पार्टी उम्मीदवार जयप्रकाश की जीत के लिए घर-घर जाकर वोट मांगेगा।

सभा के बाद पत्रकार वार्ता में हुड्डा ने कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार बनने पर बीजेपी द्वारा बंद किए गए तमाम स्कूलों को खोला जाएगा। हर स्कूल में टीचर्स की कमी को पूरा करने के लिए जेबीटी, टीजीटी, पीजीटी समेत खाली पड़े सभी 38,000 टीचर्स के पदों पर भर्ती होगी। तमाम विभागों के 1.82 लाख पदों पर पक्की भर्तियां की जाएंगी। नौकरियों में एससी और ओबीसी बैकलॉग को भरा जाएगा। एकबार फिर से दलित, पिछड़े व गरीब स्कूली बच्चों को देश में सबसे ज्यादा वजीफा दिया जाएगा।

पिछली बार कांग्रेस सरकार ने एक ही कलम से 11000 सफाई कर्मियों की भर्ती की थी। अबकी बार उन सभी को पक्का किया जाएगा और नई भर्ती की जाएगी। ताकि हर गांव में सफाई व्यवस्था बेहतर हो सके।

परिवार पहचान पत्र के झमेले को खत्म करके स्वघोषित आय के आधार पर प्रत्येक बुजुर्ग को 6 हजार रुपये महीना यानी बुजुर्ग दंपत्ति को 12 हजार रुपये महीना पेंशन दी जाएगी। हर एक गरीब परिवार का राशन कार्ड बनवाया जाएगा। सभी योग्य परिवारों को राशन कार्ड और राशन मिलेगा।

कांग्रेस सरकार बनने पर फिर से सौ-सौ गज के प्लॉट आवंटन की योजना को फिर से शुरू किया जाएगा। हर परिवार को 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली दी जाएगी। किसानों का जिक्र करते हुए हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस सरकार बनने पर उन्हें बोनस के साथ एमएसपी दी जाएगी।

आज कांग्रेस ज्वाइन करने वाले नेताओं की सूची इस प्रकार है-

1. चंद्र प्रकाश, पूर्व आईएएस अधिकारी
2. एडवोकेट भूपसिंह (बीजेपी छोड़कर कांग्रेस)
3. महेंद्र सिंह (जेजेपी छोड़कर कांग्रेस)
4. रामेश्वर (जेजेपी छोड़कर कांग्रेस)

5. महेंद्र सिंह जांगड़ा, पूर्व सरपंच, गांव डोभी एवं पूर्व प्रधान, जांगिड़ ब्राह्मण महासभा, जिला हिसार
6. राम कुमार जांगड़ा, गांव बुड़ाक, आदमपुर
7. नंबरदार सरजीत सिंह जांगड़ा, बांडा हेड़ी
8. वेद प्रकाश जांगड़ा, बांडाहेड़ी
9. एडवोकेट महावीर सिंह आर्य, बांडाहेड़ी, पूर्व तहसीलदार

10. राम कुमार जांगड़ा, महासचिव, जांगिड़ ब्राह्मण महासभा, जिला हिसार
11. राम सिंह महला, पूर्व सरपंच, गांव बांडाहेड़ी
12. ओमप्रकाश जांगड़ा, पूर्व प्रधान, जांगिड़ ब्राह्मण महासभा, हिसार
13. जय भगवान जांगड़ा, पूर्व सचिव, जांगिड़ ब्राह्मण महासभा, हिसार
14. मास्टर दिलीप सिंह गढ़वाल, बांडाहेड़ी
15. बलवंत सिंह जांगड़ा, गांव चूली कलां, पूर्व अफसर

16. धर्मवीर शर्मा, बांडाहेड़ी
17. महेंद्र सिंह सोनी, बांडाहेड़ी

18. प्रेम सिंह जांगड़ा,

19. साधु राम जांगड़ा

20. राहुल जांगड़ा

21. रमेश शर्मा

22. लीलू सिंह सैनी

23. अजीत कालीरावण

24. पवन सुधर

25. महेंद्र जांगड़ा कालीरावण

26. रतन

27. टोनी बेनीवाल

28. ललित बंसल

29. धर्मेंद्र जयानी

30. डॉक्टर नरेंद्र बिश्नोई

31. पप्पू ठेकेदार

32. हवा सिंह जांगड़ा

33. सुरेंद्र जांगड़ा

34. हीरालाल बिश्नोई

35. भूप सिंह जांगड़ा

36. मनोज पूनिया

37. सरदार जग्गी खैरमपुर

38. जयवीर सिहाग परिवार चूली

39. सुभाष हरिजन आदमपुर

40. वेद प्रकाश सुथार

41. रतन जांगड़ा

42. राम कुमार जांगड़ा मोड़ा खेड़ी

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *