Connect with us

NATIONAL

पंचायत इलेक्शन में उत्तर प्रदेश की ईवीएम वापस, गुजरात से ईवीएम क्यों मंगाई गई?

Published

on

UP EVM back in Panchayat elections

UP EVM back in Panchayat elections

सत्य खबर, चंडीगढ़ । पंचायत इलेक्शन में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर हरियाणा चुनाव आयोग ने चौंकाने वाला फैसला लिया है। आयोग ने उत्तर प्रदेश की 5 हजार ईवीएम वापस लौटा दी। इसकी जगह पर गुजरात से 10 हजार ईवीएम मंगाई हैं। पंचायत चुनाव में 70 हजार ईवीएम इस्तेमाल होंगी।UP EVM back in Panchayat elections

इस बात की खूब चर्चा हो रही है कि उत्तर प्रदेश में चुनाव भी नहीं हैं तो ईवीएम वापस क्यों भेजी गई। वहीं गुजरात में जल्द विधानसभा चुनाव की संभावना है। इसके बावजूद वहां से ईवीएम क्यों मंगाई गई?। हालांकि इसको लेकर आयोग के
हरियाणा में 3 चरणों में पंचायत चुनाव हो रहे हैं। पहले चरण के 9 जिलों में 70 हजार ईवीएम इस्तेमाल होंगी। जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्य के लिए ईवीएम से वोटिंग होगी। पंच और सरपंच के चुनाव में बैलेट पेपर का ही इस्तेमाल होगा।

Also check these links:

उपचुनाव को लेकर भूपेंद्र हुड्डा का बड़ा दावा, आदमपुर को कांग्रेस का गढ़ बता कह दी ये बात

दर्जनों लोगों ने फर्जी दस्तावेजों पर लिया करोड़ों का लोन, जानिए कैसे

सन्नी सुसाइड मामला : भाग रहे आरोपियों के परिवार को मृतक के परिजन लाए थाने, जानिए फिर क्या हुआ

राज्य में वोटिंग के दौरान 5000 ईवीएम रिजर्व रखी जाएंगी। सूबे की 22 जिला परिषद, 143 पंचायत समितियों के पदों पर वोटिंग होगी। इनमें 6,220 ग्राम पंचायतें हैं। पहले चरण की वोटिंग 30 अक्टूबर रविवार और 2 नवंबर बुधवार को शुरू होगी। सुबह सात बजे से वोटिंग की शुरुआत होगी जो शाम 6 बजे तक जारी रहेगी।

हरियाणा में कुल 22 जिले हैं। इनमें ब्लॉक, ग्राम पंचायतें, पंच, पंचायत समिति, जिला परिषद की कुल 71682 सीटों पर चुनाव होना है। इन सीटों के लिए 12043073 मतदाता वोटिंग करेंगे। वोटिंग के लिए 14637 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।UP EVM back in Panchayat elections