Connect with us

Crime

पत्नी ने पति को हनी ट्रैप में फंसाया एसएचओ भी शामिल पाया, जानिए पूरा मामला

Published

on

Wife implicated husband in honey trap

Wife implicated husband in honey trap

सत्य खबर, अंबाला । अंबाला में एफसीआई कर्मचारी को हनीट्रैप में फंसा 10 लाख रुपए की सौदेबाजी करने के मामले में महेश नगर थाना प्रभारी भी संलिप्त पाए गए हैं। आरोपी एसएचओ सुभाष कुमार थाना छोड़कर फरार हो चुका है। उधर, एसपी जशनदीप सिंह रंधावा ने इंस्पेक्टर सुभाष कुमार को सस्पेंड कर दिया है।

इसी मामले में गठित एसआईटी ने शिकायतकर्ता मनोज कुमार की पत्नी (बैंक मैनेजर) समेत 3 महिलाओं को गिरफ्तार किया है। वहीं, एसआईटी आरोपी एसएचओ और अंबाला कैंट के निवारा रामबाग रोड निवासी गौरव उर्फ गुरप्रताप की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है। पुलिस ने शिकायतकर्ता की पत्नी को कोर्ट में पेश करके एक दिन के रिमांड पर लिया है।

एफसीआई में तैनात मनोज कुमार का दिसंबर 2021 में दिल्ली से अंबाला सिटी में ट्रांसफर हुआ था। मनोज कुमार ने सेक्टर-9 एरिया में किराए पर मकान लिया था। सितंबर 2022 को रवनीत कौर मनोज के घर आई थी, जिसने किराए पर कमरा लेने की बात कही थी, लेकिन मनोज कुमार ने मना कर दिया था। इसके बाद रवनीत कौर ने सेक्टर-9 पुलिस थाना में शिकायत सौंप मनोज के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराया था। पुलिस पूछताछ में मनोज ने खुद को निर्दोष बताया था। जांच में मामला झूठा पाया गया। इतना ही नहीं, इस केस में मनोज की बैंक मैनेजर पत्नी, एसएचओ महेश नगर सुभाष समेत अन्य लोगों की संलिप्तता पाई गई।Wife implicated husband in honey trap

मनोज कुमार ने खुद को निर्दोष साबित करते हुए 18 अक्टूबर को थाना सेक्टर-9 अंबाला सिटी में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें बताया कि 12 अक्टूबर को आरोपी रवनीत कौर ने अन्य लोगों के साथ मिलकर रुपए ऐंठने की नीयत से झूठा मुकदमा दर्ज करा जान से मारने की धमकी दी। एसआईटी ने मामले की गहनता से जांच करते हुए हनीट्रैप का खुलासा किया। बताया गया कि मनोज कुमार और उसकी पत्नी प्रीति का कोर्ट में तलाक का केस चल रहा है।

Also check these news links:

आदमपुर उपचुनाव में उम्मीदवारों के अनोखे दांव-पेंच, क्या है आदमपुर के दंगल में नए सियासी दांव-पेच

आने वाले 5 दिनों में इन राज्यों में होगी बरसात

मॉडल के साथ पकड़े जाने पर पत्नी को टक्कर मारने वाला फिल्म प्रोड्यूसर गिरफ्तार

हरियाणा : इस बार दो उंगलियों पर स्याही, इस दिन होगा प्रचार बंद

पुलिस ने मनोज को तो क्लीन चिट दे दी, लेकिन झूठा केस दर्ज कराने वाली आरोपी रवनीत कौर को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में रवनीत ने अपनी साथी सुखप्रीत का नाम उगल दिया, जिसमें सामने आया कि आरोपियों ने यमुनानगर में इसी तरह का एक मामला दर्ज करा रखा है। पुलिस ने सुखप्रीत को गिरफ्तार किया, तो उसने आगे मनोज की पत्नी प्रीति का नाम उगल दिया। प्रीति चंडीगढ़ के एक बैंक में मैनेजर है। अब पुलिस मास्टरमाइंड गौरव और इंस्पेक्टर सुभाष की तलाश में जुटी है।

जांच में एसएचओ सुभाष की मनोज की पत्नी प्रीति के साथ दोस्ती की बात सामने आई है। प्रीति ने इंस्पेक्टर सुभाष के जरिए मनोज कुमार के खिलाफ रेप का झूठा केस दर्ज कराया। जब पुलिस ने आरोपी प्रीति को गिरफ्तार किया तो इसी भनक लगते ही इंस्पेक्टर सुभाष सरकारी नंबर मुंशी को थमा फरार हो गया।Wife implicated husband in honey trap

जानकारी के मुताबिक यमुनानगर के महिला थाने में भी सुखप्रीत ने एक बड़े कारोबारी के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज कराया था। आरोपी कारोबारी का प्रॉपर्टी को लेकर उसके सगे भाई के साथ विवाद चल रहा है। उसने ही हनीट्रैप में फंसाने के लिए सुखप्रीत समेत अन्य लोगों के साथ मिलकर कारोबारी के खिलाफ केस दर्ज कराया था।

उस वक्त इंस्पेक्टर सुभाष मुलाना थाने में एसएचओ तैनात था। किसी न किसी तरह सुभाष ने इस मामले की जांच मुलाना थाने में ट्रांसफर करा ली थी। इसके बाद सुभाष का महेश नगर थाने में ट्रांसफर होने के बाद मामले की जांच भी महेश नगर थाने एसएचओ के पास पहुंच गई थी। पुलिस दोनों मामले में गहनता से जांच कर रही है।