Connect with us

Haryana

हरियाणा में टॉप, राष्ट्रपति से सम्मानित! हरियाणा टॉपर बेटी के साथ दरिंदगी, गाँव के ही युवकों ने किया गैंगरेप

सत्य खबर कोसली (ब्यूरो रिपोर्ट) महिलाओं की सुरक्षा का दम भरने वाली हरियाणा सरकार महिला सुरक्षा के नाम पर कदम कदम पर फ़ैल होती नज़र आ रही है अब हरियाणा सरकार इस मामले को लेकर सुर्खियों में आने लगी है। पहले मोरनी हिल्स में महा गैंगरेप और अब रेवाड़ी में छात्रा को से महा गैंगरेप […]

Published

on

सत्य खबर कोसली (ब्यूरो रिपोर्ट)

महिलाओं की सुरक्षा का दम भरने वाली हरियाणा सरकार महिला सुरक्षा के नाम पर कदम कदम पर फ़ैल होती नज़र आ रही है अब हरियाणा सरकार इस मामले को लेकर सुर्खियों में आने लगी है। पहले मोरनी हिल्स में महा गैंगरेप और अब रेवाड़ी में छात्रा को से महा गैंगरेप का नाम दिया जा रहा है। रेवाड़ी के कोसली इलाके में सीबीएसई टॉपर छात्रा के साथ महादरिंदगी का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक पीड़िता के साथ करीब एक दर्जन युवकों ने अपहरण कर गैंगरेप किया और उसके बाद नशे की हालत में उसे छोड़कर फरार हो गए। परिजनों का आरोप है कि जिन युवकों ने गैंगरेप किया है ।

पढ़िए पूरा मामला –
रेवाड़ी जिले के एक गांव की रहने वाली 19 वर्षीय द्वितीय वर्ष की छात्रा सुबह घर से कोंचिंग के लिए निकली थी कि कनीना बस अड्डे के समीप उसी के गांव के रहने वाली तीन युवक मिले। जिन्होंने छात्रा को अपनी गाड़ी में लिफ़्ट देकर पानी पीने को कहा, पानी में नशीला पदार्थ मिलाया हुआ था। पंकज, मनीष और नीसु नाम के तीन युवक छात्रा को अगवाकर युवक महेन्द्रगढ़ जिले की सीमा से दूर झज्जर जिले की सीमा के खेतों में बने एक कुएं पर ले गए जहां और भी लोग मौजूद थे, और नशे की हालत में सभी ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया। और वापस शाम करीब 4 बजे वहीं कनीना बस अड्डे पर बेसुध हालत में फेंककर वहां से रफूचक्कर हो गए। उन्ही युवकों में से एक युवक ने छात्रा के घर पर फ़ोन कर यह जानकारी भी दी कि उनकी लड़की यहां बेसुध पड़ी हुई है। परिजन वहां पहुंचे तो उनकी आंखें खुली की खुली रह गई। पीड़िता रेवाड़ी जिले के एक गांव की रहने वाली है इस लिए परिजनों ने रेवड़ी पुलिस को सूचित किया। रेवाड़ी महिला पुलिस ने जीरो FRI दर्ज़ कर उसे कनीना(महेंद्रगढ़)थाने भेज दिया।

मुद्दे की बात हो ये है की जब परिजन शिकायत के लिए कनीना थाने पहुंचे तो थाने से पीड़ित परिजनों को यह कहकर वापस लौटा दिया की यह मामला उनकी सीमा क्षेत्र से बाहर हुआ है। अब पीड़ित परिवार न्याय की दुहाई लगा रहा है। अब देखना होगा कि बेटी, बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली खटटर सरकार में कैसे सुरक्षित रहेंगी बेटियों।
आपको बता दें कि 26 जनवरी 2016 को राष्ट्रपति इस छात्रा को हरियाणा में टॉप रहने पर सम्मानित भी कर चुके है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *