Connect with us

Haryana

आत्महत्या रोकथाम दिवस पर आई.टी. आई. तरावड़ी के विद्यार्थियों को किया जागरूक

तरावड़ी, (रोहित लामसर)। आई.टी.आई. तरावड़ी में आत्महत्या रोकथाम दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें उप-सिविल सर्जन डा. अंजू ने विशेष रूप से शिरकत कर विद्यार्थियों को जागरूक किया। उन्होंने आई.टी.आई. के सभी विद्यार्थियों को आत्महत्या के विशेष के बारे में अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि आत्महत्या करने के बारे में सोचने वाले […]

Published

on

तरावड़ी, (रोहित लामसर)।
आई.टी.आई. तरावड़ी में आत्महत्या रोकथाम दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें उप-सिविल सर्जन डा. अंजू ने विशेष रूप से शिरकत कर विद्यार्थियों को जागरूक किया। उन्होंने आई.टी.आई. के सभी विद्यार्थियों को आत्महत्या के विशेष के बारे में अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि आत्महत्या करने के बारे में सोचने वाले व्यक्ति को बचाया जा सकता है। डा. अंजू ने बताया कि दिगामी रूप से परेशान व्यक्ति के मन में अनेक कारणों से आत्महत्या करने का विचार आ जाता है। जैसे कि आक्रमकता, अनियंत्रित क्रोध, निराशा का अनुभव होना, मृत्यू के बारे में सोचना, बात करना, लगातार नकारात्मक विचार आना, मादक पदार्थ अथवा मदिरा का अधिक सेवन करने के अलावा अन्य आत्महत्या के कारण हैं। डा. अंजू ने आत्महत्या रोकने के उपाय भी बताए। उन्होंने बताया कि किस प्रकार सगे संबधी आत्महत्या करने की सोचने वाले व्यक्ति को बचा सकते हैं। ऐसे व्यक्ति के साथ मित्रतापूर्ण व सहानुभूतिपूर्वक व्यवहार करना चाहिए। इसके अलावा व्यक्ति को अकेले नही रहने देना चाहिए। ऐसे व्यक्ति को किसी न किसी कार्य में लगाकर रखना चाहिए। इस अवसर पर डा. आशीष भारती पी.एच.सी. निगदू व डा. अरविंद आर्युवैदिक चिकित्सा अधिकारी ने भी आत्महत्या रोकथाम दिवस पर विचार रखे। जागरूकता कार्यक्रम में अरविंद, डा. अंजू, प्रिंसीपल, इंस्ट्रक्टर एवं स्वास्थय विभाग के संजय काऊंसलर मौजूद रहे।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *