Connect with us

Haryana

बदलते परिवेश में संस्कारों का अभाव से ही समाज में है अशांति

सत्यखबर,सफीदों ( सत्यदेव शर्मा   ) विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुज्जर ने कहा कि अभिभावकों द्वारा बच्चों को स्वस्थ रखने के साथ साथ संस्कारी बनाने के प्रति सचेत रहना चाहिए, ताकि देश आना वाला भविष्य सुदृड और संस्कारी हो। जिससे भारत को विश्व गुरु बनाने का सपना साकार हो पाए। वे रविवार को गांव मुआना के महाराणा प्रताप […]

Published

on

सत्यखबर,सफीदों ( सत्यदेव शर्मा   )

विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुज्जर ने कहा कि अभिभावकों द्वारा बच्चों को स्वस्थ रखने के साथ साथ संस्कारी बनाने के प्रति सचेत रहना चाहिए, ताकि देश आना वाला भविष्य सुदृड और संस्कारी हो। जिससे भारत को विश्व गुरु बनाने का सपना साकार हो पाए। वे रविवार को गांव मुआना के महाराणा प्रताप स्कूल में आयोजित एक कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि बच्चों को संबोधित कर रहे थे। वहीं कार्यक्रम में एसपी जींद अरुण नेहरा व उनकी पत्नी संगीता ने विशिष्ट अतिथि शिरकत की। उन्होंने यहां स्कूल की विभिन्न गतिविधियों व एमडी छात्रवृति प्रतियोगिता के करीब 350 बच्चों को सम्मानित किया गया। समारोह में विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक प्रस्तुती से सबका मन मोह लिया। उन्होंने कहा कि बदलते परिवेश में संस्कारों का अभाव समाज में अशांति फैला रहा है। जिसके दोषी न सिर्फ हमारी आधूनिक शिक्षा पद्धती है, बल्कि पैसा कमाने की आपाधापी में परिवारों का समाज से हो रहा अलगाव भी जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि अब इसके समाधान के लिए स्कूल प्रसाशन के साथ अभिभावकों को आगे आकर बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार भी सिखाने होंगे। एसपी अरुण नेहरा ने कहा कि आधुनिकता का चोला ओढ़ते हुई आज की शिक्षा संस्कार विहिन होती जा रही है। इसके प्रति कोई भी संवेदनशील नहीं है। जिससे सभी परिवार आज संस्कारों से दुर होते जा रहे है। बच्चों को जितनी शिक्षा की जरूरत है, उससे कहीं ज्यादा संस्कारित होना अनिवार्य है। स्कूल के निदेशक अमरपाल राणा ने मुख्यातिथि का आभार प्रकट करते हुए कहा कि किसी भी व्यक्ति को उच्चा उठाने के लिए प्रेरक की अहम भूमिका होती है। आज इस समारोह में कंवरपाल गुज्जर व एसपी अरूण नेहरा ने अध्यापकों व अभिभावकों को जो प्रेरणा दी है, उससे समाज में एक बदलाव होने की संभावना जाग्रित होती है। इस अवसर पर एसडीएम विरेंद्र सांगवान, तहसीलदार वजीर सिंह, अजय राणा, सरपंच सुखबीर राणा, चेयरमैन विक्रम राणा आदि लोग मौजूद रहे।