Connect with us

Chandigarh

सरकार नहीं चाहती किसान आंदोलन और कोरोना को खत्म करना के अलावा जानिए दीपेंद्र हुड्डा ने सरकार को क्या कहा

Published

on

 

सत्य खबर, चंडीगढ़ ।

राज्य सभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार किसान आंदोलन और कोरोना दोनों को ही जानबूझकर खत्म करना नहीं चाहती। ताकि इनकी आड़ में लचर अर्थ व्यवस्था, बेरोजगारी, बिगड़ी हुई कानून.व्यवस्था और भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाया जा सके।
उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के बातचीत के प्रस्ताव के महीने भर बाद भी सरकार ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। यही कारण है कि सरकार की मंशा पर सवाल उठ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार संयुक्त किसान मोर्चा के बातचीत के प्रस्ताव को स्वीकार क्यों नहीं कर रही है। एक तरफ तो सरकार में बैठे हुए लोग कह रहे हैं कि किसान आंदोलन से कोरोना बढ़ा है, दूसरी ओर संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से आये बातचीत के प्रस्ताव को भी स्वीकार नहीं कर रहे हैं। सरकार के रवैये से ऐसा लगता है कि वो चाहती है कि लोग कोरोना से जूझते रहें और देश के किसान अपनी मांगों को लेकर दु:खी मन से अंतहीन आंदोलन करते रहें।
दीपेंद्र हुड्डा ने सरकार से सवाल किया कि वो कोरोना की पहली और दूसरी लहर के बीच हाथ पर हाथ धरे क्यों बैठी रही। पिछले साल के लॉकडाउन के बुरे असर से शहरों और गांवों के गरीब अभी तक जूझ रहे हैं और इस बीच कोरोना की दूसरी लहर ने उन्हें आर्थिक तौर पर बुरी तरह तोड़ दिया है। आर्थिक लिहाज से देखा जाए तो महामारी में इलाज के बढ़ते खर्च, ऑक्सीजन, दवाईयों की किल्लत, कालाबाजारी और डीजल पेट्रोल की आसमान छूती कीमतों, भारी.भरकम टैक्स वसूली से लगातार बढ़ रही महंगाई जैसे क ारणों ने आम गरीबों, किसानों की परेशानियों में जले पर नमक छिडक़ने का काम किया है। इनमें खासतौर से गांव और शहर के गरीब, किसान, युवा, महिलाएं, बुजुर्ग और अनौपचारिक क्षेत्र में काम करने वाले करोड़ों लोग शामिल हैं।
बाक्स खबर
सरकार एमपीलैंड फ ंड बहाल करे तो इस साल का पूरा फंड सरकारी अस्पतालों, सीएचसी व पीएचसी को देंगे
सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि भगवान न करे कि तीसरी लहर आये लेकिन अगर आयी तो ऐसी तैयारी हो कि फिर किसी की जान जाने की नौबत न आये। महामारी के समय सांसद निधि से जनस्वास्थ्य हित में काफी काम किये जा सकते हैं। अगर भारत सरकार सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास निधि को बहाल करती है तो वे इस साल का पूरा फंड हरियाणा के सरकारी अस्पतालों, सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रो को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, मोबाइल मेडिकल वैन व अन्य बुनियादी सुविधाओं को मुहैया कराने में लगा देंगे।
उल्लेखनीय है कि टीम दीपेंद्र ने अपनी ओर से पूरे प्रदेश के ग्रामीण इलाकों की सीएचसी व पीएचसी में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पहुंचाने की मुहिम चला रखी है। अब तक पूरे प्रदेश में 100 से ज्यादा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर टीम दीपेंद्र के सहयोग से बांटे जा चुके हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *