Connect with us

Haryana

सिंघु बॉर्डर पर एक और किसान की मौत, तेज रफ्तार कार का शिकार हुआ किसान

Published

on

सत्यखबर,सोनीपत (पवन सिंह)

सोनीपत के सिंघु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन लगातार जारी है किसान लगातार तीन कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। वहीं लगातार किसानों की मौत के मामले भी सामने सामने आ रहेे हैं। बीती देेेेर रात तेज रफ्तार का कहर देखने को मिला इसके बाद हादसे में सिंधु बॉर्डर पर मौजूद एक किसान की मौत हो गई। हादसे की सूचना के मिलते ही आसपास के किसानों और पुलिस मौके पर पहुंची।वही किसान की मौकेेे पर मौत हो गई फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सोनीपत सिविल अस्पताल में रखवा दी और मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़े… टिकरी बॉर्डर पर किसानों ने शुरू किया पक्के शौचालयों का निर्माण, बोले- लंबा चलेगा आंदोलन

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लगातार किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं।वहीं लगातार दुख समाचार भी सामने आ रहे हैं।किसानों की मौत का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। बीती देर रात भी सिंघु बॉर्डर पर एक किसान की मौत हो गई बताया जा रहा है। किराए के सामने किसान 21 फरवरी से आन्दोलन में हुआ था और खाना खाने के बाद जब वह वापस जा रहा था तो उसी दौरान एक तेज रफ्तार कार ने उसे टक्कर मार दी। जिसके बाद किसान जीत सिंह की जो पंजाब जिला मोगा का रहने वाला था, मौके पर मौत हो गई सूचना के बाद साथी किसान और पुलिस मौके पर पहुंची। वहीं उसके साथ ही किसान जगत सिंह ने बताया कि वह 21 फरवरी को आंदोलन में आया था और रात को खाना खाने के लिए जा रहा था। उसी दौरान एक तेज रफ्तार कार ने टक्कर मार दी। जिसके बाद उसकी मौत हो गई। यह गरीब परिवार से हैं और खेती करके अपने घर का गुजारा करता था।

पूरे मामले के बाद जांच अधिकारी सुनील कुमार ने बताया कि बीती देर रात एक तेज रफ्तार कार ने किसान को टक्कर मार दी जिसके बाद उसकी मौत हो गई। किसान 21 फरवरी से सिंधु बॉर्डर आंदोलन में शामिल था। पंजाब के मोगा का रहने वाला है और खेती करने का ही काम करता था। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए शव गृह में रखवा दिया गया है और मामले की जांच शुरू कर दी है।

2 Comments